झारखंड: मॉब-लिंचिंग में भाजपा नेताओं की गिरफ्तारी

झारखंड इमेज कॉपीरइट Ravi Prakash

झारखंड के रामगढ़ ज़िले की पुलिस ने मॉब-लिंचिंग के मामले में भारतीय जनता पार्टी के दो नेताओं को गिरफ्तार किया है. इन पर 29 जून की दोपहर रामगढ़ बाजार में भीड़ के हाथों मारे गए अलीमुद्दीन अंसारी की हत्या में शामिल होने का आरोप है. अलीमुद्दीन की पत्नी ने इन्हें नामज़द अभियुक्त बनाया है.

रामगढ़ के एसपी किशोर कौशल ने बताया कि पुलिस ने नित्यानंद महतो और राजा खान को गिरफ्तार किया है. ये भाजपा की जिला इकाई के पदाधिकारी हैं. नित्यानंद महतो पर अलीमुद्दीन को वैन से खींचकर उतारने और फिर उनकी हत्या में शामिल होने के आरोप हैं.

एसपी ने बताया कि इनके अलावा एक युवक ने कोर्ट में आत्मसमर्पण किया है. पांच अन्य लोगों से हिरासत में पूछताछ की जा रही है. पुलिस ने यह कार्रवाई घटना के वीडियो फुटेज और इस मामले मे दर्ज रिपोर्ट के आधार पर की है.

नित्यानंद महतो और राजा खान

गिरफ्तार किए गए नित्यानंद महतो भाजपा की रामगढ़ जिला इकाई के मीडिया प्रभारी हैं. उनकी गिरफ्तारी भाजपा के जिलाध्यक्ष पप्पू बनर्जी के आवास के समीप की गई. राजा खान भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा के नेता हैं.

इमेज कॉपीरइट Ravi Prakash

भाजपा के इन दोनों नेताओं की गिरफ्तारी के बाद विपक्ष ने रघुवर दास की सरकार पर गोरक्षकों को संरक्षण देने के आरोप लगाए हैं. मुख्य विपक्षी पार्टी झारखंड मुक्ति मोर्चा के राष्ट्रीय महासचिव सुप्रीयो भट्टाचार्य ने बीबीसी से बतचीत में कहा कि इस मामले की जांच हाईकोर्ट के जस्टिस से कराई जानी चाहिए.

इमेज कॉपीरइट Ravi Prakash

सुप्रीयो भट्टाचार्य ने बीबीसी से कहा, ''तीन साल की केंद्र सरकार और ढाई साल की रघुवर दास की झारखंड सरकार ने कोई वादा पूरा नहीं किया. ऐसे में लोगों का ध्यान भटकाने के लिए भाजपा सरकार सांप्रदायिक कार्ड खेल रही है. मॉब-लिंचिंग जैसी घटनाएं इसी का नतीजा हैं.''

वहीं भारतीय जनता पार्टी ने विपक्ष के आरोपों को सिरे से नकार दिया है. भाजपा प्रवक्ता प्रवीण प्रभाकर ने कहा है कि सरकार किसी को भी पार्टी की आड़ में अपराध करने की इजाजत नहीं दे सकती.

इमेज कॉपीरइट RAGHUBAR DAS FB
Image caption मुख्यमंत्री रघुबर दास, प्रधानमंत्री मोदी के साथ (फाइल फोटो)

इसबीच झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी ने रघुवर दास की सरकार पर क़ानून-व्यवस्था के मोर्चे पर विफल होने का आरोप लगाते हुए उनसे इस्तीफे की मांग की है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे