छापे के बाद बोले लालू- मोदी से मुझे डर नहीं लगता

लालू प्रसाद यादव इमेज कॉपीरइट Getty Images

राष्ट्रीय जनता दल प्रमुख और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव ने कहा कि उनके घरों पर सीबीआई की छापेमारी और एफ़आईआर दर्ज बदले की भावना से की गई है. उन्होंने कहा कि वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को हटाकर दम लेंगे.

लालू ने कहा, ''मैंने कोई ग़लत काम नहीं किया है. मेरे ख़िलाफ़ बीजेपी और आरएसएस साजिश कर रहे हैं. जिस आईआरसीटीसी के होटल के टेंडर की बात कही जा रही है उसमें मैंने कुछ भी ग़लत नहीं किया है. उसकी तो फाइल भी मेरे पास नहीं आई थी. अगर इसमें कहीं से भी दोषी हूं तो साबित करो और सज़ा दो.''

इमेज कॉपीरइट Getty Images

केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने पूर्व रेल मंत्री लालू प्रसाद यादव पर मामला दर्ज किया है. उनपर 420 और 120-बी का मामला दर्ज किया गया है. सीबीआई के एडिशनल डायरेक्टर राकेश अस्थाना ने इस मामले में प्रेस कॉन्फ्रेंस करके बताया है कि इस मामले में सुबह सात बजे से कार्रवाई की जा रही है.

लालू प्रसाद के अलावा इस मामले में उनकी पत्नी राबड़ी देवी और उनके बेटे तेजस्वी यादव का नाम भी दर्ज है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

लालू ने कहा, ''2006 में ओपन टेंडर था और होटल लीज़ पर दिया गया था. मेरे और मेरे परिवार के ख़िलाफ़ लगातार हमले हो रहे हैं. ये हमको जेल भेजना चाहते हैं कि हम भाजपा और आरएसएस के सामने झुक जाएं. भाजपा की गीदड़भभकी के सामने झुकने वाले नहीं हैं. पटना जाकर मैं जानना चाहूंगा कि मेरे घर पर रेड से क्या मिला. मैंने कहा कि इन्हें सर्च करने के बाद सुरक्षा देकर ठीक से भेज देना नहीं तो पता नहीं कौन पत्थर फेंक दे.''

सीबीआई की ओर से ये भी बताया गया है कि ये मामला 2006 का है, तब लालू प्रसाद रेल मंत्री थे. कथित तौर पर बताया जा रहा है कि उस वक्त रेलवे के रांची और पुरी स्थित दो होटलों का टेंडर एक निजी कंपनी को दे दिया गया था.

सीबीआई की ओर से राकेश अस्थाना ने ये भी कहा कि सुजाता होटल्स को दो होटलों का टेंडर दिए जाने के एवज में प्रेमचंद गुप्ता की कंपनी को दो एकड़ ज़मीन मिली और बाद में ये कंपनी लालू परिवार के हस्तांरित हो गए.

नीतीश सरकार के अच्छे दिन चल रहे हैं या बुरे दिन?

नज़रिया: आखिर लालू और नीतीश के बीच चल क्या रहा है?

इमेज कॉपीरइट Getty Images

इस मामले में लालू प्रसाद यादव और उनकी पत्नी राबड़ी देवी और उनके बेटे तेजस्वी यादव के अलावा इंडियन रेलवे कैटरिंग और टूरिज़्म कारपोरेशन (आईआरसीटीसी) के पूर्व महाप्रबंधक के ख़िलाफ़ मामला दर्ज किया गया है.

रांची से स्थानीय पत्रकार नीरज सिन्हा के मुताबिक इस मामले में लालू प्रसाद, राबड़ी देवी, तेजस्वी यादव और प्रेमचंद गुप्ता की पत्नी सरला गुप्ता सहित आठ लोगों के नाम दर्ज हैं.

सीबीआई की टीम पटना, रांची, भुवनेश्वर, गुरुग्राम और पुरी के 12 ठिकानों पर मामले की जांच कर रही है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे