पैग़ंबर मोहम्मद पर कैफ़ का ट्वीट हुआ वायरल

इमेज कॉपीरइट Getty Images

क्रिकेटर मोहम्मद कैफ़ ने पश्चिम बंगाल में हुई हिंसा पर ट्वीट किया है.

कैफ़ ने लिखा, "पैग़ंबर साहब इतने महान हैं कि किसी फ़ेसबुक पोस्ट से उनका बचाव किए जाने की ज़रूरत नहीं है. करोड़ों रुपए की संपत्ति बर्बाद करना और हिंसा करना उनकी सीख के बिलकुल ख़िलाफ़ है. शर्मनाक."

पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना ज़िले में एक नाबालिग किशोर के विवादित फ़ेसबुक पोस्ट के बाद हिंसा भड़क गई थी.

हालात नियंत्रित करने के लिए सरकार को इंटरनेट सेवाएं बंद करनी पड़ीं और केंद्रीय बलों को तैनात किया गया.

'बंगाल में बीजेपी और ममता का अपना-अपना खेल'

'...तो फिर ख़ुदा ही मुसलमानों की ख़ैर करे!'

इमेज कॉपीरइट @MohammadKaif

कार्रवाई की मांग

मोहम्मद कैफ़ के ट्वीट पर जवाब देते हुए सिद्धिम खेर ने लिखा, "लेकिन सिर्फ़ उसे सोशल मीडिया पोस्ट मानकर नज़रअंदाज़ करना भी सही नहीं है. कार्रवाई होनी ही चाहिए लेकिन बिना हिंसा और दंगों के."

इस पर अंज़ल ख़ान ने लिखा, "कार्रवाई होनी चाहिए लेकिन भारतीय दंड संहिता के तहत, भीड़ के हाथों नहीं. सांप्रदायिक हिंसा मुसलमान करें या हिंदू, हम उसके ख़िलाफ़ हैं."

राहुल ने ट्वीट किया, "रिलैक्स. भगवान को अपना पक्ष लेने या अपने लिए लड़ने के लिए किसी की ज़रूरत नहीं है. वो अपने आप में आत्मनिर्भर है. "

आदिल नोमानी ने लिखा, "ये बात लोगों को समझ क्यों नहीं आती. ऐसी तब होता है जब धर्म सिर्फ़ कर्मकांड बनकर रह जाता है."

ममता का आरोप, गवर्नर ने 'अपमानित' किया

इमेज कॉपीरइट Syed Shahroz Quamar
Image caption भीड़ की हिंसा के ख़िलाफ़ रांची में गुरुवार को प्रदर्शन हुआ.

पश्चिम बंगाल में हुई हिंसा के बाद बहुत से मुसलमानों ने फ़ेसबुक पर #NotInMyname के साथ भी पोस्ट किए हैं.

सामाजिक कार्यकर्ता नदीम ख़ान ने फ़ेसबुक पर लिखा, "बंगाल के मुसलमानो ने वही किया जो भीड़ पूरे देश मे कर रही है, फेसबुक पोस्ट के लिए घर फूंक देना उनमें और तुममें कोई फ़र्क़ नही."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे