राहुल ने पूछा 'चीन पर क्यों ख़ामोश हैं मोदी?'

राहुल गांधी इमेज कॉपीरइट @OfficeofRG

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने भारत और चीन के बीच बढ़ते तनाव के मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की चुप्पी पर सवाल उठाए हैं.

शुक्रवार को किए एक ट्वीट में राहुल गांधी ने पूछा, "हमारे प्रधानमंत्री चीन के मुद्दे पर ख़ामोश क्यों हैं?"

हाल के दिनों में भारत और चीन के बीच सीमा विवाद को लेकर तनाव बढ़ा है और दोनों ओर से आक्रामक बयान भी आए हैं.

राहुल के इस ट्वीट पर लोगों ने मज़ाकिया जवाब दिए हैं.

सुमित कश्यप ने लिखा, "क्योंकि उनका मुंह मोमोज़ से भरा है."

वहीं प्रणब जाधव ने लिखा, "हर रणनीति को शोर मचाकर नहीं बताया जाता है."

तनाव के बीच मोदी और जिनपिंग का हैंडशेक

'1962 के मुक़ाबले भारत से बहुत ताक़तवर है चीन'

इमेज कॉपीरइट Twitter

एक और ट्वीट में जाधव ने लिखा, "ज़िम्मेदार नेता विपक्ष बनिए. भारत को विपक्ष में ऐसी मज़बूत आवाज़ की ज़रूरत है जो कोई समझदारी भरी बात कहे. चीन के राष्ट्रपति ने भी सीमा विवाद पर कुछ नहीं कहा है, अगर प्रधानमंत्री मोदी चीन के मुद्दे पर अभी कुछ कहते हैं तो वो बहुत भयानक होगा."

राहुल के ट्वीट के जवाब में प्रधानमंत्री मोदी पर तंज करते हुए स्कॉची नाम के अकाउंट से लिखा गया, "अभी उनकी आंखें लाल नहीं हैं. एक बार जब आंखें पूरी तरह लाल हो जाएंगी तब वो चीन को लाल आंखें दिखाएंगे."

चीन से बढ़ते तनाव को कैसे शांत कर सकता है भारत

भारत और चीन के बीच तनातनी की वजह क्या है?

इमेज कॉपीरइट Twitter

अमोद जे ने ट्वीट किया, "उनके पास भारतीय मुद्दों के लिए समय नहीं है क्योंकि वो अब अंतरराष्ट्रीय प्रधानमंत्री हैं. उस वक़्त प्रधानमंत्री इसराइल में मौज ले रहे थे."

हर्षद शर्मा ने लिखा, "चीन को जवाब देंगे लेकिन अंतरराष्ट्रीय स्तर पर नहीं बल्कि किसी चुनावी सभा में जिससे चीन को दूर-दूर तक कोई फर्क नहीं पड़ेगा."

पंक तिवारी ने सवाल किया, "मिस्टर राहुल गांधी आप प्रधानमंत्री से सवाल कर रहे हैं या राष्ट्रीय सुरक्षा पर उंगली उठा रहे हैं?"

'चीन से टकराव मोल लेना भारत को महंगा पड़ेगा'

इमेज कॉपीरइट Twitter
इमेज कॉपीरइट Twitter

वहीं कुछ लोगों ने राहुल गांधी पर तंज भी किया.

मिस आर्या के नाम से चल रहे अकाउंट से पूछा गया, "मैं निश्चित तौर पर कह सकती हूं कि आप चीन को नक़्शे पर भी नहीं खोज पाओगे."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)