भारत-पाक नियंत्रण रेखा पर फ़ायरिंग, 7 की मौत

इमेज कॉपीरइट Getty Images

भारत और पाकिस्तान के बीच नियंत्रण रेखा पर शनिवार को हुई फ़ायरिंग में अधिकारियों के मुताबिक सात लोगों की मौत हो गई है.

पाकिस्तान के अधिकारियों ने समाचार एजेंसी रायटर्स को बताया है कि चिड़ी कोट सेक्टर में फ़ायरिंग के कारण एक महिला समेत चार लोग मारे गए.

इसके अलावा शनिवार को ही नकयाल सेक्टर में भारतीय सेना की फ़ायरिंग से एक महिला की भी मौत हुई.

दूसरी तरफ भारत के अधिकारियों का कहना है कि पाकिस्तान की ओर से की गई फ़ायरिंग में दो लोगों की मौत हुई है.

बुरहान वानी की पहली बरसी पर कश्मीर में सन्नाटा

क्यों जान जोखिम में डाल रहे है आम कश्मीरी?

इमेज कॉपीरइट facebook

गौरतलब है कि नियंत्रण रेखा पर ये घटना उस वक़्त हुई है जबकि भारत प्रशासित कश्मीर में हिज़बुल मुजाहिदीन के कमांडर बुरहान वानी की पुलिस एनकाउंटर में मौत के एक साल पूरे होने पर कश्मीर में हड़ताल है.

ये हड़ताल हुर्रियत कॉन्फ़्रेंस और जिहाद काउन्सिल की अपील पर हो रही है.

भारत प्रशासित कश्मीर में प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच झड़पों की रिपोर्ट मिली हैं. प्रदर्शनकारियों को काबू करने के लिए पुलिस ने आंसू गैस का इस्तेमाल किया.

बीबीसी संवाददाता ज़ुबैर अहमद के अनुसार, कश्मीर में शनिवार को कश्मीर में तनाव रहा. बुरहान वानी की बरसी के दिन दक्षिण कश्मीर में सुरक्षाकर्मियों और प्रदर्शनकारियों के बीच कम से कम 12 जगहों पर झड़पें हुई हैं जिनमें कई लोग घायल हुए.

घायलों में तीन सुरक्षाकर्मी भी शामिल हैं. बुरहान वानी के क़स्बा त्राल को सील कर दिया गया है और वहाँ किसी को जाने आने की इजाज़त नहीं है.

इमेज कॉपीरइट AFP

बुरहान वानी की पुलिस मुठभेड़ में मौत के बाद हफ़्तों चली हिंसा में क़रीब 100 नागरिक मारे गए थे.

कई लोग पैलेटगन से घायल हो गए थे और इनमें से कई की आँखों की रोशनी चली गई थी.

भारतीय अधिकारियों का कहना है कि बुरहान वानी की बरसी मनाना मूर्खता है क्योंकि वो कोई हीरो नहीं था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे