सोशलः आनंद महिंद्रा की माफ़ी से बदल जाएगी कॉरपोरेट की दुनिया?

इमेज कॉपीरइट Getty Images

टेक महिंद्रा कंपनी में एक कर्मचारी के निकालने जाने की ऑडियो क्लिप के वायरल होने के बाद कंपनी के मुखिया आनंद महिंद्रा ने माफ़ी मांगी है.

आनंद महिंद्रा ने अपने एक ट्विटर पोस्ट में कहा है कि मैं निजी तौर पर इसके लिए माफ़ी मांगता हूं. हमारा मूल लक्ष्य व्यक्ति के सम्मान को बनाए रखना है. हम इस बात को सुनिश्चित करेंगे कि ऐसा भविष्य में न हो.

कंपनी के एक कर्मचारी को 24 घंटे के अंदर निकालने जाने की सोशल मीडिया में काफ़ी आलोचना हो रही है.

@7th_Samurai के ट्विटर हैंडल से विजय वेंकटरमनन ने आनंद महिंद्रा के ट्वीट को साझा करते हुए लिखा है, "अनुवादः मैंने आपका नमक खाया है सरदार."

इमेज कॉपीरइट Twitter
इमेज कॉपीरइट Twitter

एक अन्य यूज़र अनिरुद्ध नायर ने @dranirudhnair ट्विटर हैंडल से लिखा है, "सीपी गुरनानी, आप खुद को पाक साफ़ न साबित करें और निर्दोष एचआर कर्मचारी पर दोष न थोपें. अब मेरे घर में और महिंद्रा ब्रांड नहीं. आप लोग यूनाइटेड से भी गए गुजरे लोग हैं!"

सीपी गुरनानी टेक महिंद्रा के एमडी और सीईओ हैं. मामला प्रकाश में आने के बाद उन्होंने ट्विटर पर कंपनी की ओर से माफ़ी मांगी थी.

यशवर्द्धन भंडारी ने अपने ट्विटर हैंडल @bYashvardhan से पोस्ट किया है, "महिंद्रा में जो कुछ हुआ वो इस बात को दिखाता है कि भारत में अधिकांश एचआर कर्मचारी कितने अक्षम हैं."

एक ट्विर यूज़र जनार्दन गवाड़े ने लिखा है, "'टेक महिंद्रा की ऑडियो क्लिप इस बात का सबसे बुरा उदाहरण है, जहां कर्मचारियों को बेदर्दी से बाहर निकाल दिया जाता है और एचआर कर्मचारी ग़लत तरीक़े से बात करते हैं. "

इमेज कॉपीरइट Twitter

हालांकि कुछ लोगों ने आनंद महिंद्रा की ओर से प्रतिक्रिया आने को सराहा भी है.

ट्विटर हैंडल @AgarwalaSuresh सुरेश अग्रवाल ने लिखा है, "दिलेर, मिस्टर महिंद्रा. तथाकथित पेशेवर संस्थानों में हर दिन ऐसी घटनाएं होती रहती हैं. क्या उनमें ऐसी हिम्मत है?"

ये घटना 15 जून की है, जब टेक महिंद्रा के एचआर विभाग ने एक कर्मचारी को दूसरे दिन सुबह 10 बजे तक कंपनी छोड़ने को कहा.

इमेज कॉपीरइट Twitter

नौकरी छोड़ने की मोहलत सिर्फ 24 घंटे के भीतर दी गई और ये भी कहा गया कि उन्हें इसके एवज में कोई अन्य सुविधा नहीं दी जाएगी.

एचआर की महिला कर्मचारी ने ये भी बताया कि नौकरी ख़त्म करने का फैसला कारपोरेट ऑफ़िस का है.

ग़ौरतलब है कि पिछले दिनों कई टेक कंपनियों में कर्मचारियों की छंटनी की ख़बरें आती रही हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे