पश्चिम बंगाल को गुजरात न समझे बीजेपी: तृणमूल कांग्रेस

पश्चिम बंगाल इमेज कॉपीरइट Getty Images

पश्चिम बंगाल में विवादित फ़ेसबुक पोस्ट तक लेकर शुरू हुए तनाव से राज्य में राजनीति भी गर्मा गई है. तृणमूल कांग्रेस ने बीजेपी पर आरोप लगाया है कि वो प्रदेश के हालात को बिगाड़ने का काम कर रही है.

तृणमूल कांग्रेस के राज्यसभा सांसद सुखेंदु एस रॉय ने बीबीसी से कहा, "मुख्यमंत्री ने अपील की है लेकिन हर रोज़ दिल्ली और कोलकाता से बीजेपी नेता वहां जाकर फिर से स्थिति को नाज़ुक बनाना चाहते हैं."

'बंगाल में बीजेपी और ममता का अपना-अपना खेल'

'...तो फिर ख़ुदा ही मुसलमानों की ख़ैर करे!'

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने केंद्र सरकार पर सहयोग न करने का आरोप लगाया.

तृणमूल कांग्रेस का आरोप है कि बीजेपी पश्चिम बंगाल की क़ानून व्यवस्था को ख़राब दिखाने का बहाना बनाकर राष्ट्रपति शासन लगाना चाहती हैं.

इमेज कॉपीरइट Sanjay das

इस बीच शनिवार को बीजेपी नेता मीनाक्षी लेखी, सत्यपाल सिंह और ओम माथुर को बशीरहाट जाने से रोका गया. बीजेपी सांसद रूप गांगुली ने बीबीसी से कहा, "ये महज एक फ़ैक्ट फ़ाइंडिंग टीम थी, जिसे रोका गया, इसे क्यों रोका गया, नहीं पता."

उन्होंने कहा कि अगर राज्य सरकार दावा कर रही है कि परिस्थिति काबू में है तो फिर विपक्षी नेताओं को वहां जाने से रोका क्यों जा रहा है.

जबकि सुखेंदु एस रॉय का कहना है, "एक फ़ेसबुक पोस्ट किया गया था जिसमें एक धर्म के खिलाफ़ कुछ लिख दिया गया और तनाव हो गया. जबकि प्रशासन और पुलिस को पता चला तो बशीरहाट के बाहर से कुछ गुंडे लोग वहां पहुंच गए. बड़े कड़े हाथ से परिस्थिति को नियंत्रण में लाया गया और वहां पर धारा 144 लागू है लेकिन विपक्षी नेता वहां जाने की ज़िद करने लगे."

रॉय ने कहा, ''पश्चिम बंगाल एक वीडियो क्लिप जो कथित तौर पर दिखाया जा रहा है जो बांगालदेश के कोमिला ज़िला की एक घटना के वीडियो क्लिप को बशीरहाट का बताया जा रहा है. भोजपुरी फ़िल्म में किसी महिला से बदसलूकी का क्लिप बशीरहाट का बताया जा रहा है. ''

इमेज कॉपीरइट Getty Images

उन्होंने कहा कि 'पश्चिम बंगाल को कोई गुजरात न समझे. केंद्र में सत्ताधारी बीजेपी अशांति फैलाना चाहती है.'

ममता बनर्जी ने दार्जिलिंग में गोरखालैंड की मांग को लेकर हुई हिंसा में भी केंद्र के सहयोग न करने का आरोप लगाया. उन्होंने शनिवार को विदेशी तत्वों का भी ज़िक्र किया था.

सुखेंदु कहते हैं कि पश्चिम बंगाल की बांग्लादेश के साथ सैकड़ों किलोमीटर की सीमा पर बीजेपी सनसनी पैदा करना चाहती है.

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री दार्जिलिंग में केंद्र सरकार से केंद्रीय सुरक्षा बल तैनात करने की मांग कर रही थी, पहले केंद्र सरकार ने लाठीधारी सुरक्षाकर्मी दिए, जबकि दार्जिलिंग में पैरामिलिट्री बल की ज़रूरत थी लेकिन एक महीना हो चुका है कई बार मांग करने पर भी केंद्र सरकार ने अभी तक जवाब नहीं दिया.

इमेज कॉपीरइट SANJAY DAS

उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार चाहती है कि पश्चिम बंगाल में क़ानून व्यवस्था की स्थिति ख़राब हो जाए ताकि यहां पर राष्ट्रपति शासन लगाने की ज़मीन तैयार हो सके.

हालांकि रूपा गांगुली का कहना है, "हम लोग शौक से राष्ट्रपति शासन क्यों लगाएंगे. अगर यहां राष्ट्रपति शासन कोई चाहता है, तो क्या ये अच्छी चीज़ हैं? असल में ममता बनर्जी खुद ही स्थिति को संभाल नहीं पा रही हैं. कभी वो कहती हैं उन्हें पैरामिलिट्री फ़ोर्स चाहिए, कभी राज्यपाल पर आरोप लगाती हैं."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे