प्रेस रिव्यूः सीट विवाद पर हुई थी जुनैद की हत्या

हिंदी के अख़बार हिंदुस्तान की एक ख़बर के अनुसार, ईद से पहले दिल्ली से बल्लभगढ़ जाते समय चलती ट्रेन में मारे गए जुनैद की हत्या बीफ़ लेकर नहीं बल्कि सीट विवाद में हुई थी.

जीआरपी के पुलिस अधीक्षक कमलदीप गोयल ने दावा किया है कि सीट के विवाद में जुनैद की हत्या हुई थी. मामले के प्रमुख अभियुक्त नरेश को दो दिन के रिमांड पर भेजा गया है.

पुलिस के अनुसार, पहले गिरफ़्तार किए गए अभियुक्तों से नरेश की कोई पूर्व जान पहचान नहीं थी.

अंग्रेज़ी अख़बार हिंदुस्तान टाइम्स में छपी एक ख़बर के अनुसार, केंद्र सरकार ने देश के 10 पशुपालन केंद्रों को निर्देश दिया है कि वो ऐसे सीमेन तैयार करें जो दूध बढ़ाने वाला हो और गायों से पैदा होने वाले अनचाहे बछड़ों की समस्या से निजात दिलाए.

अख़बार के अनुसार, ये निर्देश गाय को मारने पर प्रतिबंध लगाने से उपजी समस्या के मद्देनज़र लिया गया है.

दावा

द इंडियन एक्स्प्रेस की ख़बर के अनुसार, मुख्यमंत्री पद से हटाने के पांच महीने बाद ही नगालैंड के पूर्व मुख्यमंत्री टीआर ज़ेलियांग ने राज्यपाल के सामने फिर से दावा पेश कर दिया है. उन्होंने 41 विधायकों के समर्थन का दावा किया है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

इंडियन एस्क्प्रेस की ही एक और ख़बर है, जिसमें कहा गया है कि तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव की सुरक्षा अधिकारियों ने उनके घर के चारों और मेटल शीट लगाने का आदेश दिया है ताकि बाहर से उनका घर न दिखे.

राज्य के ख़ुफ़िया अधिकारियों ने पाया है कि पास की तीन इमारतों की छत से लोग देख सकते हैं कि राव कहां हैं.

आरक्षण पर विचार

जनसत्ता की एक ख़बर के अनुसार, चरमपंथी हमलों के पीड़ितों को नौकरी में आरक्षण देने की मांग पर प्रधानमंत्री कार्यालय विचार कर रहा है. पीएमओ ने गृहमंत्रालय से इस पर उचित कार्रवाई करने को कहा है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

नई दुनिया की एक ख़बर के अनुसार, मध्यप्रदेश के दस ज़िलों के अधिकारियों ने किसानों से ख़रीदी गई प्याज को नष्ट करने की अनुमति मांगी गई है. प्याज की क़ीमतें गिरने के कारण सरकार ने आठ रुपये समर्थन मूल्य पर किसानों से प्याज की ख़रीद की थी.

द स्टेट्समैन ने उत्तर प्रदेश के बांदा ज़िले की एक ख़बर प्रकाशित की है, जिसमें कहा गया है कि स्वास्थ्य अधिकारियों द्वारा एंबुलेंस दिए जाने से इनकार किए जाने के बाद परिजनों ने शव को रिक्शे से अस्पताल पहुंचाया.

टाइम्स ऑफ़ इंडिया की एक ख़बर के अनुसार, चुनाव आयोग ने कहा है कि वीवीपैट मशीनें लगाने से चुनाव परिणाम आने में तीन घंटे तक की देरी हो सकती है. गुजरात चुनावों में शत प्रतिशत वीवीपैट मशीनें लगाने और मिलाने के लिए कुछ चुनिंदा केंद्रों पर मतगणना भी कराने की आयोग तैयारी कर रहा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे