राजद ने कहा, तेजस्वी यादव त्यागपत्र नहीं देंगे

इमेज कॉपीरइट Pti

राष्ट्रीय जनता दल के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव के घर पर सीबीआई छापों के बाद बुलाई गई पार्टी की बैठक में यह फ़ैसला हुआ है कि तेजस्वी यादव बिहार के उप मुख्यमंत्री का पद नहीं छोड़ेंगे.

राष्ट्रीय जनता दल के विधायक दल की बैठक के बाद पार्टी के वरिष्ठ नेता और बिहार सरकार में मंत्री अब्दुल बारी सिद्दीक़ी ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी राज्य सरकार को अस्थिर करना चाहती है.

क्रोसना चूहे का स्वाद याद है आपको, लालू जी?

छापे के बाद बोले लालू- मोदी से मुझे डर नहीं लगता

उन्होंने कहा, "तेजस्वी यादव त्यागपत्र नहीं देंगे. हम उनके साथ हैं."

अब्दुल बारी सिद्दीक़ी ने कहा कि जो भी भाजपा के ख़िलाफ़ खड़ा हुआ है, उसे निशाना बनाया जा रहा है.

पिछले दिनों सीबीआई ने लालू प्रसाद यादव और उनके परिजनों समेत कुछ अन्य लोगों के कई ठिकानों पर छापेमारी की थी.

नीतीश-लालू बातचीत?

इमेज कॉपीरइट Getty Images

सीबीआई ने लालू प्रसाद यादव, राबड़ी देवी, तेजस्वी यादव और अन्य लोगों के ख़िलाफ़ एफ़आईआर भी दर्ज किया है.

सीबीआई का आरोप है कि ये मामला वर्ष 2006 का है, जब लालू प्रसाद रेल मंत्री थे. रेलवे के दो होटलों के मामले में नियमों की अनदेखी की गई और उसके बदले फ़ायदा लिया गया.

अभी तक बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस मामले पर कुछ नहीं कहा है. वे पिछले दिनों बीमार थे और राजगीर में स्वास्थ्य लाभ कर रहे थे.

हालांकि नीतीश कुमार अब पटना लौट आए हैं, लेकिन अब भी उनकी ओर से कोई बयान नहीं आया है.

जब प्रेस कॉन्फ्रेंस में पत्रकारों ने नीतीश कुमार की चुप्पी पर सवाल पूछे, तो पार्टी के नेता जगदानंद सिंह ने कहा कि नीतीश कुमार ने रविवार रात को लालू प्रसाद यादव से फ़ोन पर बात की थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)