यूपी का संदीप शर्मा कैसे बना लश्कर का 'एटीएम लुटेरा'?

मुनीर ख़ान इमेज कॉपीरइट BILAL BAHADUR
Image caption जम्मू-कश्मीर पुलिस के महानिरीक्षक मुनीर ख़ान

जम्मू कश्मीर पुलिस ने दावा किया है कि चरमपंथी संगठन लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े दो लोगों को गिरफ़्तार किया गया है जिसमें से एक का संबंध उत्तर प्रदेश के मुज़फ़्फरनगर से है.

पुलिस के मुताबिक गिरफ्तार किए गए दूसरे व्यक्ति की पहचान मुनीब शाह के रूप में हुई है जो कि भारत प्रशासित कश्मीर के कुलगाम ज़िले के रहनेवाले हैं.

श्रीनगर में कश्मीर रेंज के पुलिस महानिरीक्षक मुनीर ख़ान ने संवाददाताओं को बताया कि संदीप कुमार शर्मा उत्तर प्रदेश के रहने वाले हैं. उन्होंने दावा किया कि संदीप चरमपंथी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के सक्रिय सदस्य हैं.

पुलिस का कहना है कि संदीप एक अपराधी हैं जो कश्मीर में लश्कर के साथ संपर्क में आए.

पुलिस ने दावा किया कि संदीप शर्मा उर्फ़ 'आदिल' लश्कर कमांडर बशीर अहमद वानी उर्फ़ बशीर लश्करी के गुट में शामिल थे. मुनीर ख़ान ने कहा कि लश्कर के इसी ग्रुप ने पिछले दिनों दक्षिण कश्मीर में एक पुलिस थानाध्यक्ष समेत पाँच पुलिसकर्मियों की हत्या कर दी थी.

बाद में पुलिस के साथ मुठभेड़ में लश्करी भी मारे गए.

मुठभेड़ में लश्कर कमांडर अबु क़ासिम की मौत

'हथियार मत उठाना, मैंने ये ज़हर पिया है...'

संदीप कैसे हु गिरफ़्तार?

इमेज कॉपीरइट Bilal Bahadur

पुलिस ने बताया कि जिस घर में पुलिस मुठभेड़ में लश्करी की मौत हुई, संदीप शर्मा भी उसी घर मैं मौजूद थे. वो उन लोगों में शामिल थे जिन्हें पुलिस ने मुठभेड़ से पहले घर से सुरक्षित जगह पर पहुँचाया था.

पुलिस ने दावा किया कि पूछताछ में संदीप इस सवाल का सही जवाब नहीं दे सके कि वो उस मकान में क्या कर रहे थे, जहां लश्कर के चरमपंथी भी मौजूद थे.

पुलिस का दावा है कि पूछताछ में संदीप ने लश्कर में शामिल होना कबूल किया.

पुलिस के मुताबिक संदीप ने दक्षिण कश्मीर में एटीएम लूट की कई वारदातों को अंज़ाम दिया है. पुलिस ने ये भी दावा किया कि संदीप अपने दूसरे साथियों के साथ लश्कर के चरमपंथियों को एक जगह से दूसरी जगह ले जाने, सुरक्षा कर्मियों से हथियार छीनने जैसी घटनाओं में भी शामिल रहे.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक मुनीर ख़ान ने बताया कि संदीप साल 2012 में कश्मीर घाटी में आए थे और उन्होंने गर्मियों में यहां वेल्डर के रूप में काम किया. सर्दियों में वो यहां से पटियाला चले जाते थे.

मुनीर ख़ान ने कहा, "पंजाब में काम करते हुए वो कुलगाम निवासी शाहिद अहमद के संपर्क में आया. इसी साल जनवरी में वो घाटी में आया और दक्षिण कश्मीर में एटीएम लूट और दूसरी घटनाओं को अंज़ाम दिया."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे