ग़ाज़ियाबाद: खाना परोसने में हुई देर तो कर दी पत्नी की हत्या

फ़ाइल फोटो इमेज कॉपीरइट Getty Images

भारत की राजधानी दिल्ली से सटे ग़ाज़ियाबाद में पुलिस ने 60 साल के एक शख़्स को गिरफ़्तार किया है जिसने खाना परोसने में देरी होने पर पत्नी की हत्या कर दी थी.

ग़ाज़ियाबाद में एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी रूपेश सिंह ने बताया कि शनिवार को अशोक कुमार शराब के नशे में घर पहुंचे थे और पत्नी से उनकी बहस हो गई.

ख़बरों के अनुसार, 55 साल की सुनैना के सिर में गोली मारी गई थी. उन्हें अस्पताल ले जाया गया, लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका. पुलिस का दावा है कि अशोक कुमार ने अपना अपराध क़बूल कर लिया है.

लेस्बियन होने की झूठी ख़बर पर गंवानी पड़ी नौकरी

'बात करना चाहती थी पत्नी'

पुलिस अधिकारी रूपेश सिंह ने कहा, ''ये व्यक्ति (अशोक) रोज शराब पीने का आदी है. शनिवार को वह शराब के नशे में धुत होकर घर लौटा और पत्नी से झगड़ा करने लगा. वह उसकी नशे की आदत से काफी परेशान थी और इस बारे में बात करना चाहती थी, लेकिन उन्हें तुरंत खाना चाहिए था.''

इमेज कॉपीरइट Getty Images

पुलिस अधिकारी ने बताया कि खाना लाने में देर हुई तो अशोक का गुस्सा भड़क गया और उसने पत्नी सुनैना को गोली मार दी.

बीते एक दशक से देश में होने वाले अलग-अलग अपराधों में घरेलू हिंसा के मामले सबसे ज्यादा सामने आए हैं.

समस्या सेक्स अपराध है सेक्स नहीं: एकता कपूर

'हर चार मिनट में एक केस'

2015 में लगभग हर चार मिनट में घरेलू हिंसा का एक मामला दर्ज किया गया है, जिसमें दहेज हत्या, दहेज उत्पीड़न, पति या उसके रिश्तेदारों की ओर से प्रताड़ित किया जाना और अन्य घरेलू हिंसा के मामले शामिल हैं.

सरकार की ओर से कराए गए एक फेमिली सर्वे के मुताबिक, 54 फ़ीसदी पुरुष और 51 फ़ीसदी महिलाओं का मानना है कि अगर कोई महिला अपने सास-ससुर की इज्ज़त नहीं करती, बच्चों और घर की देखभाल नहीं करती या खाने में नमक कम-ज्यादा कर देती है तो उसे पीटा जाना बुरा नहीं है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे