अमरनाथ यात्रा: जानिए कि अब तक क्या कुछ हुआ

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
"ड्राइवर ने दिमाग लगाया और कई यात्रियों की जान बचा दी"

अनंतनाग हमले में मारे गए कुछ अमरनाथ यात्रियों के शवों और हमले में घायल हुए लोगों को लेकर एक सरकारी विमान गुजरात के सूरत हवाईअड्डे पहुंच गया है.

श्रीनगर से जम्मू और कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ़्ती, गवर्नर एन एन वोहरा और उप-मुख्यमंत्री निर्मल सिंह ने मृतकों को श्रद्धांजलि देकर रवाना किया था.

सोमवार रात को सात अमरनाथ यात्री जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग ज़िले में चरमपंथी हमले में मारे गए थे. चरमपंथियों द्वारा निशाना बनाई गई बस में ज़्यादातर यात्री गुजरात से थे. स्थानीय पुलिस के मुताबिक़ 19 लोग इस हमले में घायल हुए हैं.

हमले के मास्टरमाइंड

श्रीनगर में कश्मीर रेंज के पुलिस महानिरीक्षक मुनीर ख़ान के मुताबिक अनंतनाग में अमरनाथ यात्रियों पर हमला लश्कर-ए-तैयबा ने किया है, जबकि हमले का मास्टरमाइंड पाकिस्तानी चरमपंथी इस्माइल है.

कश्मीर पुलिस ने बताया है कि हमले का शिकार हुई बस के ड्राइवर सलीम गुजरात के वडोदरा के रहने वाले हैं.

Image caption हमले में घायल हुईं महिला

अनंतनाग हमले को देखते हुए उत्तराखंड के हरिद्वार में भी कावड़ यात्रा के मद्देनज़र सुरक्षा बंदोबस्त सख़्त कर दिए गए हैं.

आपात बैठक

मुख्यमंत्री महबूबा मुफ़्ती ने अनंतनाग हमले पर चर्चा करने के लिए मंगलवार को कैबिनेट की आपात बैठक बुलाई है.

जम्मू-कश्मीर में कांग्रेस के नेता करण सिंह ने समाचार एजेंसी एएनआई से बात करते हुए कहा, "अब कोई वजह नहीं बची है कि सूबे में गवर्नर रूल लगाया जाए. यह मेरी व्यक्तिगत राय है. यात्रा को जारी रखा जाए. साथ ही जो लोग हमले में मारे गए उनके परिवारों से मेरी पूरी सहानुभूति है."

हमले पर पक्ष और विपक्ष

गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, "मैं इस हमले की निंदा करता हूं. साथ ही कश्मीरी समाज को सलाम करता हूं जिसके हर तबके ने इस जघन्य हमले की कड़ी निंदा की है."

इमेज कॉपीरइट Getty Images

भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव राम माधव ने कहा है कि इस हमले के लिए सुरक्षा बल ज़िम्मेदार नहीं है. सुरक्षा बल अपना 100 फ़ीसद दे रहे हैं. यात्रा भी बीते 15 दिनों से ठीकठाक चल रही थी. इस हमले के लिए उनकी चूक बताना ठीक नहीं.

वहीं कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने आरोप लगाया है कि सरकार और सुरक्षा बलों से चूक हुई है. लेकिन सरकार ज़िम्मेदारी लेने से बच रही है.

उप-राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के नाम पर मंथन करने के लिए संसद में की गई कांग्रेस की बैठक में नेताओं ने मारे गए अमरनाथ यात्रियों के लिए मौन रखा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे