प्रेस रिव्यू: सीमा विवाद पर बीजिंग में चीन से बात कर सकते हैं डोभाल

इमेज कॉपीरइट Getty Images

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक भारत सिक्किम में चीन के साथ जारी सीमा विवाद का कूटनीतिक हल निकालने का प्रयास कर रहा है.

भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल 26 जुलाई को बीजिंग जा सकते हैं. बीजिंग में 26 ब्रिक्स देशों- ब्राज़ील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकारों का सम्मेलन है. इस दौरान डोभाल चीन के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार के साथ सीमा विवाद पर बातचीत कर सकते हैं.

भारत ने फिर दोहराया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के बीच हेम्बर्ग में कई मुद्दों पर चर्चा हुई थी, हालाँकि चीन सरकार का कहना है कि दोनों नेताओं के बीच कोई आधिकारिक मुलाक़ात नहीं हुई.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

टाइम्स ऑफ़ इंडिया के अनुसार नेशनल ग्रीन ट्राइब्यूनल ने गंगा नदी के किनारों से 500 मीटर की दूरी तक किसी भी प्रकार का कचरा फेंकने पर पाबंदी लगा दी है. नदी को दूषित करने वाले किसी भी शख्स पर 50,000 रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा.

ट्राइब्यूनल ने गंगा के किनारे से 100 मीटर का नो डेवलपमेंट ज़ोन घोषित कर दिया है. यानी अब इस क्षेत्र में कोई निर्माण या विकास कार्य नहीं किया जा सकेगा.

ट्राइब्यूनल ने उत्तर प्रदेश सरकार को सभी प्रदूषण फैलाने वाली चमड़ा फैक्टरियों को नदी के पास से हटाने के निर्देश दिए हैं, और उत्तराखंड सरकार के साथ मिलकर गंगा और उसकी सहायक नदियों के घाटों पर होने वाली धार्मिक गतिविधियों के लिए भी दिशानिर्देश तैयार करने का आदेश जारी किया है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

हिंदुस्तान टाइम्स के अनुसार कलकत्ता हाईकोर्ट ने गुरुवार को जजों की नियुक्ति में देरी पर केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार को चेतावनी दी है. हाईकोर्ट ने कहा है कि खाली पदों पर जजों की नियुक्तियां जल्द नहीं की तो उसके ख़िलाफ़ सख्त कदम उठाया जा सकता है.

देश के सबसे पुराने हाईकोर्ट में जजों के 72 पद मंजूर हैं, लेकिर अभी सिर्फ़ 34 जज ही हैं.

साल के आखिर तक सात और जज रिटायर होने वाले हैं. जस्टिस दीपांकर दत्ता और जस्टिस देवी प्रसाद डे की पीठ ने कहा है कि मामले में केंद्र सरकार की चुप्पी के चलते हमें गंभीरतापूर्वक हस्तक्षेप करना पड़ रहा है.

इमेज कॉपीरइट AFP

द हिंदू के मुताबिक कुलभूषण जाधव की मां के वीजा आवेदन पर विचार किया जा रहा है. यह बात पाकिस्तान विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कही है. हालांकि इस बारे में भारत को अभी तक कोई आधिकारिक सूचना नहीं है.

पाकिस्तान विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता नफ़ीस जकारिया ने कहा "भारत के अनुरोध पर पाकिस्तान में विचार हो रहा है. जैसा कि आपको मालूम है, भारतीय नौसेना में काम कर रहे कमांडर जाधव पाकिस्तान में जासूसी, तोड़फोड़, आतंकवाद और आतंकवाद की वित्तीय मदद में शामिल रहे हैं. उन्हें मौत की सज़ा मिली है और पाकिस्तान में अपने साथियों और नेटवर्क को जो जानकारी उन्होंने मुहैया कराई है, उसके आधार पर जांच अब भी जारी है."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे