ट्रेन में एक और मुस्लिम परिवार पर हमला

ट्रेन इमेज कॉपीरइट Getty Images

उत्तर प्रदेश में फ़र्रुख़ाबाद के पास एक ट्रेन में मुस्लिम परिवार की कथित तौर पर बुरी तरह पिटाई करने और उनके साथ लूटपाट करने का मामला सामने आया है.

यह घटना बुधवार की है. हमले से संबंधित वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद रेलवे पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है.

पीड़ितों को फ़र्रुखाबाद के राम मनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

जुनैद को आख़िर किसने मारा था

दिल्ली से बल्लभगढ़ की यात्रा, मगर मैं जुनैद नहीं...

इस मामले में रेलवे पुलिस ने गुरुवार को कुछ लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की थी.

झांसी डिविज़न के पुलिस अधीक्षक (जीएआरपी) ओम प्रकाश सिंह ने बीबीसी को बताया, ''पूछताछ और वीडियो के आधार पर पांच लोगों की पहचान कर ली गई है और जल्द ही उन्हें गिरफ़्तार कर लिया जाएगा.''

उन्होंने बताया कि अभियुक्तों की गिरफ़्तारी के लिए पुलिस की तीन टीमें गठित की गई हैं.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption सांकेतिक तस्वीर

पीड़ित शाकिर की पत्नी ने नाम न ज़ाहिर करने की शर्त पर बीबीसी संवाददाता दिलनवाज़ पाशा को बताया कि वो अपने बेटे और पति शाकिर के साथ गुड़गांव से कायमगंज जा रहे थे. उनके साथ उनके चार रिश्तेदार भी थे.

उन्होंने बताया, ''फ़र्रुखाबाद से पहले कुछ लड़कों ने ट्रेन रुकवाई और उनकी बोगी में चढ़ गए.''

उनके मुताबिक़, "लोगों ने बेवजह उनके विकलांग बेटे को मारना शुरू कर दिया जिसका एक हादसे में एक टांग और हाथ बेकार हो चुके हैं. उसके दिमाग़ में चोट लगी थी और उसकी न्यूरोसर्जरी भी हो चुकी है."

उन्होंने आगे बताया, "जब हमने उन्हें रोका तो वो हमारी पिटाई करने लगे. इसके बाद साथ के मुसाफ़िरों ने उन्हें बोगी से बाहर निकाला और सारे खिड़की दरवाज़े बंद कर लिए. लेकिन वो लोग आपातकालीन खिड़की से फिर कोच के अंदर घुस गए."

'जो हमारे साथ हुआ वो किसी के साथ ना हो'

नज़रिया: हिंदुओं के 'सैन्यीकरण' की पहली आहट

शाकिर की पत्नी का आरोप है कि 'हमलावरों ने उनके मोबाइल और गहने छीन लिए. हमलावरों ने उनके साथ बद्तमीज़ी की और मार डालने की धमकी दी.'

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे