तनाव घटाना है तो सेना वापस बुलाए भारत: चीन

इमेज कॉपीरइट AFP

भूटान से लगती सीमा पर भारत के साथ बने तनाव के बीच चीन ने कहा है कि अगर भारत सीमा पर 'सैनिक भेजकर राजनीतिक उद्देश्य पूरा करना चाहता है तो वो ऐसा न करे'.

चीन ने एक बार फिर आरोप लगाया है कि भारतीय सैनिकों ने दोनों देशों के बीच 'निर्धारित सीमा को अवैध तरीके से पार किया और भारत को अपने सैनिकों को वापस बुलाना चाहिए.'

बीते क़रीब छह हफ्ते से सिक्किम के डोकलाम में भारत और चीन के बीच सीमा विवाद बना हुआ है. दोनों ही देशों ने सीमा पर अपनी फौज बढ़ा दी हैं.

डोकलाम ऐसी जगह है, जिसे लेकर चीन और भूटान के बीच भी विवाद रहता है.

भारत और चीन के बीच तनातनी की वजह क्या है?

'चीन के सामने भूटान को रखकर सीमा विवाद भड़का रहा है भारत'

इमेज कॉपीरइट Getty Images

आरोप

चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लू कांग ने मंगलवार को बीजिंग में हुई एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, "अगर भारतीय निर्धारित सीमा पर सैनिकों को भेजकर अपने राजनीतिक उद्देश्यों को हासिल करना चाहते हैं, तो चीन भारत से अपील करेगा कि वो ऐसा न करे."

चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने आगे कहा, "मैं बताना चाहता हूं कि इस मामले पर तथ्य स्पष्ट हैं. चीन-भारत सीमा के सिक्किम सेक्शन का निर्धारण हो चुका है. जिसे चीन और भारत दोनों ही मान्यता देते हैं. इस मामले में भारतीय सैनिक अवैध तरीके से चीन के क्षेत्र में दाखिल हुए."

वहीं, भारत का कहना है कि उसने पिछले महीने इस क्षेत्र में अपने सैनिकों को भेजा था ताकि वे इस क्षेत्र में एक नई सड़क के निर्माण कार्य को रोक सकें.

भारत-चीन विवाद पर क्या कह रहे हैं भारत में रहने वाले चीनी लोग

'पाकिस्तान नहीं, चीन है भारत के परमाणु बम के निशाने पर'

इमेज कॉपीरइट AFP

कैसे घटे तनाव?

ये मामला अंतरराष्ट्रीय समुदाय का भी ध्यान खींच रहा है.

हाल में मीडिया में रिपोर्टों आईं थीं कि चीन की सरकार ने विदेशी राजनयिकों को बताया है कि चीन ने अब तक बहुत धैर्य दिखाया है लेकिन ये हमेशा के लिए नहीं है.

इस बारे में पूछे जाने पर लू कांग ने कहा कि चीन में मौजूद कुछ विदेशी राजनयिक इस मुद्दे को लेकर सकते में आ गए थे. वो कूटनीतिक चैनल से तथ्यों की जानकारी के लिए चीन के पास आए. चीन का विदेश मंत्रालय समान हितों के मुद्दे पर इन राजनयिकों को साथ करीबी संपर्क रखता है.

ये पूछे जाने पर कि क्या इस मुद्दे पर चीन का धैर्य जवाब दे रहा है लू कांग ने कहा, "हमारा ज़ोर है कि भारत को मौजूदा स्थिति की साफ जानकारी होनी चाहिए. तनाव बढ़ने से रोकने के लिए भारत को अवैध तरीके से सीमा पार करने वाले सैनिकों को वापस बुलाना चाहिए."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे