प्रेस रिव्यू- भारतीय रिज़र्व बैंक ने 2,000 रुपये के नोट की छपाई बंद की

इमेज कॉपीरइट AFP

द मिंट में लिखा है कि भारतीय रिज़र्व बैंक ने 2,000 के नोट की छपाई बंद कर दी है और इस वित्तीय वर्ष में 2000 के और नोट छापे जाने की संभावना कम है.

नाम न बताने की शर्त पर सूत्रों ने अख़बार को बताया कि रिज़र्व बैंक ने अन्य नोटों की छपाई बढ़ा दी है, इनमें 200 रुपए के नए नोट भी शामिल हैं.

7.4 ट्रिलियन रुपए की कीमत के 2,000 रुपए के 3.7 अरब नोट अब तक छापे जा चुके हैं. ये नोट 1,000 रुपए के 6.3 अरब नोटों के बदले छापे गए, पिछले साल आठ नवंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पांच सौ और एक हज़ार रुपए के पुराने नोट वापस लेने की घोषणा की थी.

दो हज़ार का नोट लाना एक पहेली: चिदंबरम

आरबीआई ने 500 के नोट में किया बदलाव

इमेज कॉपीरइट PTI

नवभारत टाइम्स ने लिखा है कि भारत प्रशासित कश्मीर में अलगाववादी नेता शब्बीर शाह को प्रवर्तन निदेशालय ने मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया.

उन्हें एक दशक पुराने मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में श्रीनगर से गिरफ्तार किया गया है. उन्हें बुधवार को दिल्ली लाया जाएगा और अदालत में पेश किया जाएगा.

हाल ही में एनआईए के हुर्रियत के 7 नेताओं को गिरफ्तार किया था.

ख़तरनाक खेल खेल रहा है भारत: शब्बीर शाह

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने सोमवार को कश्मीरी अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी के दामाद को भी चरमपंथी गतिविधियों के लिए विदेश से फंड लेने के आरोप में गिरफ़्तार किया था.

इमेज कॉपीरइट Reuters

जनसत्ता ने लिखा है कि चीन के विदेश मंत्री वांग यी ने दावा किया कि भारत ने चीनी क्षेत्र में घुसने की बात स्वीकार की है और इस गतिरोध का समाधान निकालने के लिए उसे सिक्किम क्षेत्र के डोकलाम क्षेत्र से अपने जवानों को ईमानदारी से वापस बुलाना चाहिए.

वांग ने दोनों देशों की सेनाओं के बीच गतिरोध पर पहली बार टिप्पणी करते हुए सोमवार को बैंकॉक में कहा, ''सही और गलत बहुत स्पष्ट है और यहां तक कि वरिष्ठ भारतीय अधिकारियों ने खुले तौर पर कहा कि चीनी सेना भारतीय क्षेत्र में नहीं घुसी.'

चीन के विदेश मंत्रालय की वेबसाइट पर मंगलवार को पोस्ट किए गए संक्षित बयान में उन्होंने कहा, ''दूसरे शब्दों में भारतीय सेना ने चीनी क्षेत्र में घुसने की बात स्वीकार की. इस समस्या का समाधान बेहद आसान है - ईमानदारी से सेना को वापस बुलाएं''

इमेज कॉपीरइट IMRAN QURESHI

इंडियन एक्सप्रेस ने लिखा है कि सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी तीसरी बार राज्यसभा सदस्यता के लिए नामांकित नहीं किए जाएंगे, ये कहना है केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन का.

सीपीआई (एम) की केंद्रीय कमेटी सीताराम येचुरी को तीसरी बार राज्यसभा में भेजने के बारे में चर्चा कर रही है.

उन्होंने इंडियन एक्सप्रेस को दिए एक ख़ास इंटरव्यू में कहा, " कांग्रेस का समर्थन लेकर हमारे महासचिव को राज्यसभा भेजना हमारे राजनीतिक स्टैंड के खिलाफ़ होगा"

विजयन सीपीआई (एम) के पोलित ब्यूरो के भी सदस्य हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे