कांग्रेसी विधायकों को रखने वाले रिज़ॉर्ट पर छापा

इमेज कॉपीरइट Pti
Image caption कांग्रेस विधायक

इनकम टैक्स विभाग ने बेंगलुरु के ईगलटन रिज़ॉर्ट में बुधवार को छापा मारा है. पिछले कुछ दिनों से यहां गुजरात के कांग्रेसी विधायक ठहरे हुए हैं.

कर्नाटक के ऊर्जा मंत्री डीके शिव कुमार के बेंगलुरु और कनकपुरा ठिकानों पर भी छापे मारे गए.

आईटी ही नहीं, रेज़ॉर्ट पॉलिटिक्स की भी राजधानी रहा है बेंगलुरु

वीडियो भाजपा तोड़ रही है हमारे विधायक - कांग्रेस

कर्नाटक के इनकम टैक्स विभाग ने बयान जारी कर कहा है कि ऊर्जा मंत्री के ठिकानों की तलाशी ली जा रही है. उसके अनुसार, ये तलाशी पहले से चल रही एक जांच का हिस्सा और सबूत इकट्ठा किए जाने की कार्रवाई है.

विभाग का कहना है कि 'तलाशी पहले से ही तय थी और ये नहीं पता था कि वहां दूसरे राज्य के विधायक मौजूद हैं.'

इमेज कॉपीरइट Kashif Masood
Image caption कर्नाटक के ऊर्जा मंत्री डी के शिवकुमार

बयान के मुताबिक, 'इस दौरान रिज़ॉर्ट के उसी कमरे की तलाशी ली गई, जो ऊर्जा मंत्री का था और किसी अन्य विधायक से कोई संपर्क नहीं किया गया.'

हालांकि, रिजॉर्ट में मौजूद कांग्रेस प्रवक्ता शक्ति सिंह गोहिल ने यहां आयकर विभाग के छापे की पुष्टि की है. उन्होंने कहा, "आज सुबह यहां पर आयकर विभाग ने रेड मारी, साफ है बीजेपी मेरे विधायकों को डराने की कोशिश कर रही है. अगर डीके शिवकुमार का कोई मामला था तो उस के लिए बाद में भी रेड की जा सकती थी, अभी क्यों."

उन्होंने कहा, "हमारे विधायक इस रेड से डरने वाले नहीं हैं. मुझे नहीं मालूम हमारे साथ क्या किया जाएगा, जब हमारी सरकार वाले राज्य में ऐसा किया जा सकता है, तो मुझे लगता है कि शायद यहां से जाने के लिए टिकट भी नहीं देगा कोई. अब मैं सुप्रीम कोर्ट से गुहार लगा रहा हूँ कि वो सुओ मोटो लेते हुए इस मामले को देखे और मेरे विधायकों की सुरक्षा के लिए भी मैं अब सुप्रीम कोर्ट में गुहार लगा रहा हूँ."

इमेज कॉपीरइट Kashif Masood
Image caption ऊर्जा मंत्री डीके शिव कुमार का सदाशिव नगर स्थित घर

गुजरात में अपने विधायकों को बीजेपी में जाने से रोकने के लिए कांग्रेस ने उन्हें बीते शनिवार को बेंगलुरु पहुंचा दिया था.

कांग्रेस ने ये क़दम तब उठाया, जब उसके छह विधायकों ने पार्टी छोड़ बीजेपी का दामन थाम लिया.

गुजरात से बेंगलुरु आने पर इन विधायकों की मेज़बानी ऊर्जा मंत्री डीके शिव कुमार के भाई डीके सुरेश ने की थी.

इसी महीने आठ तारीख़ को राज्यसभा के लिए चुनाव होने वाले हैं और इसी बीच गुजरात के कद्दावर नेता और पूर्व मुख्यमंत्री शंकर सिंह वाघेला ने कांग्रेस से नाता तोड़ लिया है.

इमेज कॉपीरइट Kashif Masood
Image caption कर्नाटक के ऊर्जा मंत्री डीके शिव कुमार का सदाशिव नगर स्थित घर

उनके नाता तोड़ते ही कांग्रेस के विधायकों के इस्तीफ़े का सिलसिला शुरू हो गया था.

गुजरात से पांचवीं बार राज्यसभा में जाने के लिए चुनाव में कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गांधी के क़रीबी अहमद पटेल खड़ा हैं.

जबकि गुजरात से ही भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी भी राज्यसभा के लिए पर्चा भरा है.

अहमद पटेल ने ट्वीट कर कहा है कि 'राज्यसभा की एक सीट जीतने के लिए बीजेपी अभूतपूर्व रूप से डराने धमकाने के तरीक़े इस्तेमाल कर रही है.'

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे