चोटी चोर 'डायन' समझ मारपीट, महिला की मौत

मानदेवी इमेज कॉपीरइट VIVEK KUMAR JAIN

बीते एक सप्ताह से दिल्ली-एनसीआर, हरियाणा, राजस्थान और आगरा से महिलाओं को कथित तौर पर बेहोश कर बाल काटे जाने की रहस्यमयी घटनाओं की ख़बरें लगातार आ रही हैं. अंधविश्वासी लोग इसे चुड़ैल और डायन का साया मान रहे हैं.

इसी क्रम में बुधवार को आगरा के डौकी के गांव मुटनई में विधवा वृद्ध महिला को चुड़ैल समझ कर मारपीट की गई जिससे वह घायल हो गईं और फिर उनकी मौत हो गई. पोस्टमॉर्टम में उनकी मौत का कारण हार्टअटैक बताया गया है.

पुलिस ने दो लोगों के ख़िलाफ़ हत्या का मुक़दमा दर्ज़ किया है और वे फरार हैं. उनकी तलाश जारी है.

क्या है चोटी काटने की घटनाओं का रहस्य

कार्टूनः एक चोटी यहां भी कटी

घटना की शुरुआत

घटना की शुरुआती क्रम की ओर नज़र डालें तो डौकी के गांव मुटनई निवासी निहाल सिंह बघेल की पत्नी प्रकाश कुछ महिलाओं के साथ बीते सोमवार को डौकी गई थीं. वहां उनकी चचिया सास जयपाल सिंह की पत्नी गुड्डी की चोटी काट ली गई थी और उनके बच्चे बीमार थे. वहां से वापस आकर इन महिलाओं ने अपने-अपने घरों के दरवाज़ों पर हल्दी और मेहंदी के छापे बना दिए. इसके पीछे कारण यह बताया गया कि जिन घरों के दरवाज़ों पर हल्दी और मेहंदी के छापे होंगे वहां चुड़ैल या डायन का साया नहीं पड़ सकता. इन महिलाओं ने भी अपने-अपने घरों में हल्दी और मेहंदी के छापे बना लिए.

चुड़ैल बन कर आई गांव की महिला

निहाल सिंह की पत्नी प्रकाश के अनुसार, वो मंगलवार की रात को अपने परिवार के साथ सो रही थीं कि रात के दो बजे एक सफ़ेद बाल वाली महिला का साया सफ़ेद धोती में उनके घर में घुसा, उनकी बहू की आंख खुल गई और साये को देखते ही उसकी घिघ्घी बंध गई और फिर वो गिर पड़ीं. उनके गिरते ही घर में सब लोग जाग गए और चारों ओर चीख़-पुकार मच गई.

उनका कहना है कि बाहर सो रहे लोगों ने साये को घेर लिया और उसके साथ मारपीट आदि की. यहां तक कि उसे डण्डे से भी मारा गया. ब़ुज़ुर्ग महिला मानदेवी के चीख़ने-चिल्लाने पर लोगों की समझ में आया कि वो महिला चुड़ैल न होकर गांव की ही वृद्ध महिला मानदेवी थीं. लोग उसे उसकी बस्ती तक छोड़ आए. महिला का ताल्लुक जाटव समाज से है और परिवार की उनसे कोई रंजिश भी नहीं है.

पिटाई के बाद महिला की मौत

65 वर्ष की मानदेवी के पांच पुत्र शेर सिंह, पप्पू, छोटू, गुलाब सिंह और मनोज हैं. घटना की जानकारी देते हुए गुलाब सिंह ने बताया, ''मेरी मां बुधवार को सुबह करीब 4 बजे के बीच शौच के लिए गई थीं. ब़ुज़ुर्ग महिला अंधेरा होने के कारण रास्ता भटक कर बघेल समाज की बस्ती में चली गईं जहां उनके साथ चुड़ैल समझकर मारपीट की गई. उनके माथे से खून निकल रहा था और वो बेहोश थीं. मारपीट निहाल सिंह के पुत्रों मनीष और सोनू ने की. जब वह बेहोश हो गईं तो वो उन्हें उनकी बस्ती की बैठक पर छोड़ गए.''

उन्होंने बताया कि परिवार को जानकारी मिलने पर 100 नम्बर पर फोन किया गया, लेकिन पुलिस नहीं आई, फिर वो थाना डौकी पहुंचे. पुलिस ने मानदेवी के साथ हुई मारपीट की पर्ची बनाकर उन्हें इलाज के लिए ज़िला अस्पताल भेजा. उपचार के बाद अस्पताल से घर लौटते समय रास्ते में ही मानदेवी की मौत हो गई. हालांकि मानदेवी को ज़्यादा चोटें नहीं लगी थी.

इमेज कॉपीरइट VIVEK KUMAR JAIN

हत्या का मामला दर्ज़

पीड़ित परिवार ने निहाल सिंह के पुत्रों मनीष और सोनू के ख़िलाफ़ तहरीर दी और हत्या करने का आरोप लगाया. पुलिस ने मामला धारा 302 में दर्ज कर लिया है और आरोपियों की तलाश में जुटी हुई है. आरोपी फ़रार हैं.

दलित पीड़ित परिवार के शेर सिंह, छोटू, गुलाब सिंह ने बताया कि जब उनकी मां के साथ मारपीट की घटना हुई तो पुलिस ने उनका कोई सहयोग नहीं किया और न ही कोई जनप्रतिनिधि उनके घर अभी तक पहुंचा है.

डौकी के गांव मुटनई में जाटव परिवार के 150 और बघेल परिवार के 170 से 180 घर हैं. इनके अलावा ठाकुर परिवार के 40, ब्राह्मण परिवार के 10 से 12 और वाल्मीकि, धोबी परिवार के एक-एक और मुस्लिमों के 70 घर हैं.

पुलिस का क्या है कहना है?

पीड़ित परिवार के मुताबिक आगरा पुलिस इस मामले को लेकर बहुत ज़्यादा संज़ीदा नहीं है क्योंकि सूचना मिलने पर वह घटना स्थल पर पहुंची भी नहीं थी. डौकी के थानाध्यक्ष डीपी शर्मा का कहना है कि महिला विक्षिप्त थी और जब वह बुधवार सुबह शौच के लिए गई तो लोगों ने उनके साथ मारपीट की. एफ़आईआर दर्ज़ कर ली गई है और नामज़द आरोपी सोनू और मनीष बघेल की तलाश जारी है.

फ़तेहाबाद के पुलिस क्षेत्राधिकारी तेजवीर सिंह ने बताया, ''मामला साधारण मारपीट का था और पहले रिपोर्ट एनसीआर में दर्ज़ की गई थी. महिला की मेडिकल जांच कराने को कहा गया था. रास्ते में लौटते समय उसकी मौत हो गई तो मुक़दमा शिकायत पक्ष की तहरीर पर धारा 302 के तहत दर्ज़ कर लिया गया है. मृतका की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मृत्यु का कारण हार्टअटैक माना गया है और उसके शरीर पर साधारण चोटें पाई गई हैं.''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे