राज्यसभा चुनाव: शंकर सिंह वाघेला बोले- कांग्रेस की हार तय है

शंकर सिंह वाघेला इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption फाइल फ़ोटो

गुजरात की सियायत में नया ट्विस्ट लाने वाले शंकर सिंह वाघेला ने मंगलवार को राज्यसभा चुनाव में वोट दिया और कांग्रेस की हार तय बताई.

राज्यसभा चुनाव से ठीक पहले गुजरात विधानसभा में नेता विपक्ष का पद छोड़कर कांग्रेस से नाता तोड़ने वाले वाघेला ने साफ़ तौर पर कांग्रेस की हार की बात कही है.

उन्होंने कहा, ''जब कांग्रेस जीतने वाली ही नहीं है, तो वोट बिना मतलब कांग्रेस को देने का मतलब नहीं था. हमने अहमद पटेल को वोट नहीं दिया.''

हालांकि गुजरात विधानसभा के बाहर मीडिया से बातचीत के दौरान वाघेला ने यह नहीं बताया कि उन्होंने बीजेपी उम्मीदवार को वोट दिया है या नोटा (NOTA) का इस्तेमाल किया है.

वाघेला ने कहा, ''अभी जो स्थिति है उसमें कांग्रेस के पास 40 भी नहीं है. 44 वोट पक्के बता रहे थे उसमें भी संशय है. अहमद भाई की मर्यादा के साथ पार्टी को ऐसा मज़ाक नहीं करना चाहिए.''

उन्होंने यह भी कहा कि बीजेपी के तीनों उम्मीदवार इस चुनाव में जीतेंगे.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

'जीत का भरोसा'

उधर, राज्यसभा के लिए कांग्रेस उम्मीदवार अहमद पटेल इस चुनाव में अपनी जीत पक्की बता रहे हैं.

उन्होंने कहा, ''मुझे पूरा भरोसा है, पार्टी को भरोसा है कि हम चुनाव जीत रहे हैं. परिणाम आने का इंतज़ार कीजिए, सब साफ़ हो जाएगा.''

राज्यसभा के लिए गुजरात की तीन सीटों के लिए चार उम्मीदवार मैदान पर हैं. इनमें कांग्रेस से इकलौते उम्मीदवार अहमद पटेल हैं और बीजेपी से अमित शाह और स्मृति ईरानी के अलावा बलवंत सिंह राजपूत भी मैदान पर हैं.

बलवंत सिंह हाल ही में कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल हुए हैं. कांग्रेस के गुजरात में 57 विधायक थे, जिसमें छह पार्टी से इस्तीफ़ा दे चुके हैं. छह में से तीन बीजेपी का दामन थाम चुके हैं.

अहमद पटेल को चुनाव जीतने के लिए 46 वोटों की ज़रूरत है. हालांकि वाघेला और उनके समर्थक विधायकों के वोट के बिना कांग्रेस के लिए यह मुश्किल हो सकता है.

अहमद पटेल को हराने के लिए इतनी मेहनत क्यों?

'शंकर सिंह वाघेला के हाथ में अहमद पटेल की जीत'

वो फैक्टर जिस पर निर्भर है अहमद पटेल का चुनाव जीतना

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे