प्रेस रिव्यू: भारत-चीन विवाद में फंसा माउंट एवरेस्ट

माउंट एवरेस्ट इमेज कॉपीरइट Reuters

हिंदी अख़बार जनसत्ता में छपी एक रिपोर्ट के अनुसार चीन और भारत के बीच डोकलाम को लेकर चल रहे विवाद के कारण माउंट एवरेस्ट की ऊंचाई मापने का भारत और नेपाल का साझा मिशन अब अटक गया है.

अख़बार के अनुसार बीते दो महीने से जारी डोकलाम विवाद के कारण चीन और भारत में तनाव है और विवाद के कारण नेपाल सरकार ने इस पर चुप्पी साध ली है.

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर यह अनुमान लगाया गया था कि नेपाल में 2015 में आए भूकंप के कारण माउंट एवरेस्ट की ऊंचाई में बदलाव आया होगा.

साझा अभियान का मिशन अंतरराष्ट्रीय वैज्ञानिक समुदाय के द्वारा ज़ाहिर किए गए इस अंदाजे को दूर करना है.

एवरेस्ट नापा भारतीय ने, वाहवाही अंग्रेज़ ले गया

माउंट एवरेस्ट चढ़ने की कोशिश में 'स्विस मशीन' की मौत

इमेज कॉपीरइट SANJAY KANOJIA/AFP/Getty Images

इंडियन एक्सप्रेस' ने अपने पहले पन्ने पर गोरखपुर के मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन की सप्लाई बंद होने से हुई मौत से जुड़ी एक मार्मिक तस्वीर छापी है.

प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के अस्पताल दौरे के मिनटों पहले चार साल के सुमित की मौत हो गई. अख़बार ने सुमित के बिलखते माता-पिता की तस्वीर छापी है.

साथ ही अख़बार ने लिखा है पहले माता पिता को ख़ून, दवाओं और रूई के लिए दौड़ना पड़ा अब उन्हें पोस्टमॉर्टम के लिए दौड़ना पड़ रहा है.

अख़बार लिखता है कि जो बच्चे बीआरडी मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती थे उन्होंने अपने माता-पिता के सामने दम तोड़ दिया.

बच्चों के माता-पिता डॉक्टरों को बुलाने, फिर दवाइयां, ग्लूकोज़, रुई और ख़ून की बोतलों के लिए इधर-उधर दौड़े और अब वो इंतज़ार कर रहे हैं अपने बच्चों के डेथ सर्टिफ़िकेट और उनके पोस्टमॉर्टम का.

गोरखपुर अस्पताल में भावुक हुए योगी आदित्यनाथ

गोरखपुर त्रासदी: गैस सप्लायर की भूमिका की जांच होगी

इमेज कॉपीरइट AFP/Getty Images

योगी के दौरे से हुई परेशानी

'हिंदुस्तान टाइम्स' के पहले पन्ने पर भी गोरखपुर घटना की ख़बर छपी है.

अख़बार लिखता है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के अत्पताल का दौरा करने से कथित तौर पर मरीज़ों को मिलने वाली सेवा बाधित हुई है.

अख़बार के अनुसार अस्पताल में बड़ी संख्या में पुलिस पहुंची और अस्पताल के मुख्य गेट से लेकर बच्चों के वॉर्ड तक जाने वाले रास्ते पर गाड़ियों और पैदल लोगों के आने-जाने को रोका गया.

गोरखपुर में बच्चों की मौत पर विदेशी मीडिया

डॉक्टरों की बदसलूकी और सरकार की बेरुखी से लोगों में ग़ुस्सा

इमेज कॉपीरइट SANJAY KANOJIA/AFP/Getty Images

अख़बार लिखता है कि मुख्यमंत्री अस्पताल की इमारत में लगभग एक घंटे तक रहे और इस दौरान डॉक्टर भी उनके इर्द-गिर्द ही रहे और मरीज़ों का इलाज करने की बजाए उनके साथ व्यस्त दिखे.

'हिंदुस्तान टाइम्स' के पहले पन्ने पर प्रमुख ख़बर दिल्ली के दहेज के मामलों से संबंधित है. अख़बार के अनुसार बीते पांच सालों में ऐसे मामलों में दोगुना इज़ाफ़ा हुआ है.

अख़बार ने इस साल के पहले 6 महीनों में दिल्ली में दर्ज होने वाली 1330 एफ़आईआर पर निगाह दौड़ाई है और पाया है कि इस संबंध में हर आय वर्ग से शिकायतें आई हैं.

गोरखपुर वाले नमो ऐप पर भाषण आइडिया भेजें?

गोरखपुर त्रासदी: 'सबकी ज़िम्मेदारी तय हो'

इमेज कॉपीरइट Getty Images

नहीं थम रहे दहेज़ के मामले

दिल्ली पुलिस के आंकड़ों की मानें तो साल 2012 में दहेज़ प्रताड़ना के 2,046 मामले दर्ज किए गए थे जबकि बीते साल ऐसे 3,877 मामले दर्ज किए गए हैं.

अख़बार ने ये भी बताया है कि 441 मामलों में दहेज में कार मांगी गई थी जबकि आधे से अधिक मामलों में नक़द के रूप में दहेज़ दिया गया था.

दहेज कानून पर नए निर्देश, आगे होगा क्या?

अब भी ये पढ़ाया जा रहा है किताबों में

इमेज कॉपीरइट EPA

कश्मीर में मुठभेड़

'जनसत्ता' में छपी एक ख़बर के अनुसार दक्षिण कश्मीर के शोपियां ज़िले में शनिवार रात शुरू हुई एक मुठभेड़ में हिज़बुल मुजाहिदीन के मुख्य अभियान कमांडर यासिन इटू उर्फ़ 'गजनवी' सहित तीन चरमपंथियों की मौत हो गई है. इस मुठभेड़ में दो सैनिकों की भी मौत हुई है.

अख़बार के अनुसार ज़िले के जैनापोरा इलाके के अवनीरा गांव में चरमपंथियों की मौजूदगी की सूचना मिली थी जिसके बाद इलाके की घेराबंदी कर तलाशी अभियान शुरू किया था.

'कश्मीर में जो हो रहा है उससे दिल्ली ख़ुश होगी'

‘डिजिटल इंडिया’ के सपने से कश्मीर क्यों है दूर?

इमेज कॉपीरइट INDRANIL MUKHERJEE/AFP/Getty Images

दलाई लामा ने खींची योगगुरु रामदेव की दाढ़ी

'दैनिक भास्कर' ने पहले पन्ने पर अन्य ख़बरों के साथ तिब्बत के धार्मिक गुरु दलाई लामा के साथ योग गुरु रामदेव की तस्वीर छापी है जिसमें दलाई लामा रामदेव की दाढ़ी खींचते दिख रहे हैं.

रविवार को मुंबई में वर्ल्ड पीस एंड हार्मोनी कॉन्क्लेव का आयोजन किया गया था जिसमें कार्यक्रम के दौरान दलाई लामा ने मंच पर रामदेव की दाढ़ी पकड़ ली.

अख़बार लिखता है कि रामदेव ने कहा, ''चीन शांति में भरोसा नहीं करता. अगर ऐसा होता तो दलाई लामा आप आज यहां नहीं होते. हम योग की भाषा बोलते हैं, लेकिन जब कोई समझ नहीं रहा हो तो उसे युद्ध की भाषा में समझाना चाहिए.''

इस मौक़े पर दलाई लामा ने कहा, ''भय से चिड़चिड़ेपन का जन्म होता है, जो गुस्से में बदल जाता है और गुस्सा हिंसा पैदा करता है.''

डोकलाम में दोहराएंगे विजेंदर की जीत: रामदेव

तय तो करो कि चीन दुश्मन है या मददगार

हरियाणा के पलवल में मामूली विवाद के बाद दो लोगों को चलती ट्रेन से नीचे फेंक दिया गया. ये ख़बर छापी है 'दैनिक जागरण' अख़बार ने.

अख़बार के अनुसार शनिवार रात करीब 10 बजे बल्लभगढ़ से इंटरसिटी ट्रेन से पलवल जा रहे दो लड़कों की कुछ अन्य लोगों से कहासुनी हो गई.

बल्लभगढ़ के पास असावती स्टेशन के पास ट्रेन पहुंचने के बाद ट्रेन के दोनों लड़कों को चलती ट्रेन से नीचे फेंक दिया. घटना में एक व्यक्ति की मौत हो गयी जबकि एक की हालत गंभीर है.

दिल्ली से बल्लभगढ़ की यात्रा, मगर मैं जुनैद नहीं...

ट्रेन में एक और मुस्लिम परिवार पर हमला

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉयड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)