गोरखपुर हादसे पर बोले अमित शाह, ऐसा हादसा कोई पहली बार नहीं हुआ

अमित शाह इमेज कॉपीरइट Getty Images

बीजेपी अध्यक्ष और गुजरात से राज्यसभा के सांसद अमित शाह ने कहा है कि योगी आदित्यनाथ का इस्तीफ़ा नहीं होगा.

उन्होंने कहा कि इस तरह के हादसे इतने बड़े देश में होते रहते हैं.

शाह ने कहा, "कांग्रेस का काम है इस्तीफ़ा मांगना. इतने बड़े देश में बहुत सारे हादसे हुए, पहली बार ऐसा हादसा नहीं हुआ है."

गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में कथित तौर पर ऑक्सीजन की सप्लाई बंद हो जाने से दो दिनों में 30 से अधिक बच्‍चों की मौत पर कहा है कि इतने बड़े देश में हादसे होते रहते हैं और विपक्षी पार्टी इस्तीफ़ा मांगती रहती है.

बैंग्लुरू में सोमवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में अमित शाह ने कहा कि बीजेपी कांग्रेस की तरह बिना जांच किसी पर गलती नहीं थोपती. उन्होंने कहा कि यह हादसा है, चाहे किसी भी स्तर पर हो. इससे गरीबों के लिए किए जा रहे हमारे कामों को नकार नहीं सकते.

गोरखपुर में बच्चों की मौत पर विदेशी मीडिया

इंसेफ़ेलाइटिस के सामने CM आदित्यनाथ लाचार क्यों?

जब स्थानीय पत्रकार इमरान क़ुरैशी ने अमित शाह से पूछा कि पुर्तगाल से अफ़ग़ानिस्तान में जब लोग मरते हैं तो प्रधानमंत्री ट्वीट करते हैं लेकिन गोरखपुर के मामले में उनका ट्वीट नहीं आया.

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
गोरखपुर: अस्पताल में कुत्ते हैं, सिलेंडर में ऑक्सीजन नहीं?

इस पर शाह बोले, "जहां तक ट्वीट का सवाल है वहां अभी जांच चल रही है, मोदी जी ने दुख व्यक्त किया है प्रेस में. ट्वीट ही सिर्फ एक माध्यम नहीं है."

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कृष्ण जन्माष्टमी मनाने के प्रशासनिक आदेश पर शाह ने कहा, "बच्चों की मौत का दुख सभी को है. योगी जी ने यह नहीं कहा है कि बच्चों की मौत के बाद भी कृष्ण जन्माष्टमी का आयोजन किया जा रहा है. कृष्ण जन्माष्टमी कोई सरकारी उत्सव नहीं है. आप आपके घर में पूजा करोगे तो सरकार क्या कर सकती है?"

इस दौरान शाह से पूछा गया कि राज्यसभा के चुनाव जिस तरह से हुए हैं इससे उसकी गरिमा कम हो गई है, आप पर विधायकों को ख़रीदने का आरोप है.

इमेज कॉपीरइट AFP

अमित शाह बोले, "कहां ख़रीदा है, अगर ये एमएलए बंधक नहीं बनाते तो गरिमा बच जाती."

उन्होंने पूछा, "विधायकों को इस तरह से बंधक बना कर रखना ठीक है क्या? इसका जवाब पहले कांग्रेस दे. रेड पहले भी हुए हैं. रेड इतने लोग पकड़े जाते हैं. काला धन उजागर हुआ है तो कांग्रेस ने इनका इस्तीफ़ा क्यों नहीं लिया?"

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)