सत्ता मिलने के बाद बीजेपी ने तिरंगे को सलाम किया: राहुल गांधी

राहुल गांधी इमेज कॉपीरइट Getty Images

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने बीजेपी पर कड़ा प्रहार करते हुए कहा कि सत्ता में आने से पहले उनके नेताओं ने तिरंगे को सलाम नहीं किया.

ये बात राहुल गांधी ने जनता दल यूनाइटेड के पूर्व अध्यक्ष शरद यादव द्वारा गुरुवार को नई दिल्ली में बुलाए गए विपक्षी नेताओं के एक सम्मेलन के दौरान कही.

ये हैं मोदी और आरएसएस पर राहुल गांधी के वार

  • जब तक इन्होंने हिन्दुस्तान में राज नहीं किया, तब तक इन्होंने हिन्दुस्तान के झंडे को सलाम नहीं किया.
  • उनके सबसे बड़े नेता ब्रिटिश सरकार के सामने लड़ाई नहीं कर पाए थे. उनके एक नेता ने ब्रिटिश सरकार को चिट्ठी लिखकर जेल से मुक्त करने की बात कही थी.

राहुल गांधी ने कहा- बीजेपी ने कराया है हमला

ऐसा है राहुल गांधी का ननिहाल

इमेज कॉपीरइट Getty Images
  • जब तक इस देश में 'वन मैन वन वोट रहेगा' ये देश उनका हो नहीं सकता. आरएसएस के लोग न्यायपालिका, नौकरशाही, सेना, मीडिया में जिस दिन सब के सब बैठ गए, उस दिन ये देश उनका होगा. फिर ये सबसे कहेंगे कि ये देश तुम्हारा नहीं है, अब ये देश हमारा है. ये लड़ाई है, और लड़ने का तरीक़ा केवल एक है.
  • हर विपक्षी नेता से मेरी बात हुई है. अगर इनसे लड़ना है तो हम सबको एक साथ मिलकर लड़ना है. एक तरफ़ वो लोग जो कहते हैं कि ये देश हमारा है. और दूसरी तरफ़ वो जो कहते हैं हम इस देश के हैं. एक तरफ वो लोग दो इस देश को लूटना चाहते हैं और दूसरी तरफ वो जो जो इस देश को देना चाहते हैं.
  • क़र्ज माफ़ी की मैंने बात की. पिछले दो साल में नरेंद्र मोदी की सरकार ने एक लाख 30 हज़ार करोड़ रुपए 10-15 उद्योगपतियों का माफ़ किया है. तमिलनाडु के किसान जंतर-मंतर पर नंगे बैठे हैं. हर प्रदेश का किसान रो रहा है. मगर नहीं... तुम इस देश के नहीं हो. ये देश केवल 15-20 उद्योगपतियों का है. मोदी जी की पूरी मार्केटिंग... वो रामदेव जी... एक ही सिस्टम है भैय्या. पूरा का पूरा लक्ष्य ये कि हिन्दुस्तान को 15-20 लोगों के हवाले कर दो. पूरी पॉलिसी ये 20 लोग चलाएं. ये 20 लोग मोदी जी की मार्केटिंग शानदार तरीके से करते रहे हैं. ये है आज हिन्दुस्तान की राजनीति.
इमेज कॉपीरइट Getty Images
  • हिन्दुस्तान के सामने सबसे बड़ी समस्या है करोड़ों युवाओं को रोजगार दिलाना. मोदी जी ने मेक इन इंडिया की बात की. जहां देखो हर जगह मेड इन चाइना... मैंने संसद में उनके मंत्री से पूछा कि कितने लोगों को आपने हिन्दुस्तान में रोजगार दिलाया. वो कहता है- इस साल नहीं, पिछले साल, हमने पूरे हिन्दुस्तान में एक लाख लोगों को रोजगार दिलवाया.
  • ये भी गलत है. एक लाख में से 30 हज़ार तो कर्नाटक सरकार ने दिलवाए. इस साल जितनी बेरोजगारी हिन्दुस्तान में है उतनी पिछली आठ साल में नहीं हुई.
  • इनके लोगों ने गुजरात में मेरे ऊपर पत्थर फेंके. मैंने उनसे बात करनी चाही. लेकिन जब मैं रुका तो वो लोग भाग गए.
इमेज कॉपीरइट Getty Images

बीजेपी ने जताया कड़ा ऐतराज़

बीजेपी की तरफ़ से केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने राहुल गांधी के बयान पर कड़ी प्रतिक्रिया जताई.

  • बिना होमवर्क किए बोलना राहुल की फ़ितरत है, लेकिन अब मैं कहूंगा कि बेतुकी बात करना उनकी फ़ितरत है. बीजेपी कई राज्यों में उनके पैदा होने के पहले से सरकार में रही है.
  • बीजेपी के कई उपमुख्यमंत्री भी हुए थे, उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश में. फिर हमारी सरकार आई हिमाचल प्रदेश में 70 के दशक में. कोई आज सत्ता में आने के बाद हम... और जनता के कृपा से आए हैं. उनके परिवार की कृपा से नहीं आए हैं.
  • यूपी में किसानों का कर्ज माफ़ उनके आंदोलन की वजह से हुआ.. तो हमें ये बताएं की जनता ने आपको वोट क्यों नहीं दिया.
  • राहुल गांधी ने कहा कि बीजेपी, न्यायपालिका और मीडिया को अपने लोगों से भर रही है और संविधान को बदलेगी, ये सबसे आपत्तिजनक बात है. मैं राहुल गांधी से कहूंगा कि भारत की न्यायपालिका के बारे में प्रायोजित बातें न करें.
  • भारत की न्यायपालिका स्वतंत्र है. उनके पास कोई मुद्दा नहीं बचा है. उनसे मेरा कहना है कि अपनी राजनीतिक घबराहट में न्यायपालिका और मीडिया को न घसीटें.
  • ये राहुल गांधी से अनपेक्षित भी नहीं है. उनकी दादी ने इमरजेंसी के समय प्रतिबद्ध न्यायपालिका की बात की थी. इसके बाद कांग्रेस कई जगह पछाड़ दी गई थी.
  • जहां तक न्यायपालिका की स्वतंत्रता का सवाल है, उनकी राजनीतिक शिक्षा, राजनीतिक विरासत बिल्कुल अस्पष्ट हैं. मैं राहुल गांधी के इस बयान का कड़े शब्दों में निन्दा करता हूं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)