बछड़ा मारने के आरोप में सात लोग गिरफ़्तार

बीफ इमेज कॉपीरइट Getty Images

बिहार में कथित रुप से बीफ़ खाने के शक़ में एक गांव के करीब आधा दर्जन घरों पर हमला किए जाने का मामला सामने आया है.

एक बछड़ा चोरी होने की घटना से इस मामले की शुरुआत हुई. इस सिलसिले में जहां एक ओर मुस्लिम समुदाय के सात लोग जेल भेजे जा चुके हैं तो वहीं हमला करने वालों में से अब तक किसी की गिरफ़्तारी नहीं हुई है.

गोरक्षा से कितना चिंतित है मेघालय का 'बीफ़ बॉय'

'बीफ़, गौरक्षा मुद्दा छोड़ें मोदी तभी बढ़ेगी रैंकिंग'

भारत की गाय, बांग्लादेश जाए?

बीफ खाने का शक़

इमेज कॉपीरइट Getty Images

ये घटना गुरुवार की है. लाठी-डंडों से लैस हिंसक भीड़ ने डुमरा गांव के अल्पसंख्यक मुस्लिम समुदाय के ग्रामीणों के साथ मार-पीट की और उनमें से कुछ को बंधक बना लिया. चनपटिया थाना के अंतर्गत आने वाला यह गांव पश्चिम चंपारण जिले के जैतिया पंचायत का हिस्सा है.

बुधवार को इस इलाके के राजदेव शाह ने एक बछड़ा चोरी होने का मामला दर्ज कराया था. भीड़ को शक़ था कि डुमरा के अल्पसंख्यक मुसलमानों में से कुछ ने इस बछड़े की पहले चोरी की और फिर मांस के लिए इसे मार डाला.

मुस्लिम समुदाय के 7 लोग हिरासत में

इमेज कॉपीरइट Getty Images

घटना की ख़बर मिलने पर पुलिस वहां पहुंची और मुस्लिम समुदाय से आने वाले पीड़ितों में से सात को गिरफ़्तार कर लिया. इनमें स्थानीय मुखिया के पति कुदुस कुरैशी भी शामिल हैं.

चनपटिया थाना प्रभारी राजेश झा ने बताया, ''भीड़ ने कुछ लोगों को पकड़ रखा था. उनका कहना था कि एक बछड़े को मार कर उसका मांस बांटा गया है. इसी ओराप पर प्राथमिकी दर्ज हुई और इन सभी को जेल भेजा गया है.''गिरफ़्तार किए गए लोगों में से चार घायलों का इलाज भी चल रहा था. इन चारों को भी शुक्रवार को जेल भेज दिया गया.

हमलावरों में कोई गिरफ्तार नहीं

इमेज कॉपीरइट Getty Images

पुलिस ने हमला करने वाले करीब दर्जन भर लोगों पर भी प्राथमिकी दर्ज कर ली है लेकिन अब तक इनमें से किसी की गिरफ़्तारी नहीं हुई है. कुदुस कुरैशी की पत्नी की शिकायत पर यह प्राथमिकी दर्ज हुई है. डुमरा गांव में अतिरिक्त पुलिस बल तैनात कर दिया गया है.

बिहार में दूध देने वाली गाय और बछड़ों को मारना प्रतिबंधित है लेकिन बीफ़ के उपभोग पर कोई रोक नहीं है. एक महीने के अंदर गौ-रक्षा के नाम पर हिंसक भीड़ द्वारा की गई यह दूसरी कार्रवाई है.

इसके पहले अगस्त महीने के शुरु में भेजपुर जिले में हिंसक भीड़ द्वारा कथित रुप से एक ट्रक से बीफ़ ले जाने के आरोप में तीन लोगों से मार-पीट की गई थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे