शाम तक तय हो हादसे की ज़िम्मेदारीः रेल मंत्री

रेल हादसा

उत्तर प्रदेश के मुज़फ्फ़रनगर ज़िले में ख़तौली के पास हुए रेल हादसे पर रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने सेंट्रल रेलवे बोर्ड को आज शाम तक हादसे की जिम्मेदारी तय करने के निर्देश दिए हैं.

रेल मंत्री ने ट्वीट किया कि 'रेलवे बोर्ड की तरफ से किसी भी तरह की ढिलाई बर्दाश्त नहीं की जाएगी. आज का दिन पूरा होने तक सेंट्रल रेलवे बोर्ड प्रथम दृष्ट्या सबूतों के आधार पर हादसे की जिम्मेदारी तय करे.'

इमेज कॉपीरइट TWITTER

मुज़फ्फ़नगर रेल हादसे में अभी तक 23 लोगों के मारे जाने की ख़बर है जबकि सैकड़ों लोग घायल हुए हैं.

प्रभु के इस्तीफे की मांग

इस हादसे के बाद से रेल मंत्री सुरेश प्रभु विपक्ष के निशाने पर हैं. उनके इस्तीफ़े की मांग उठने लगी है. आरजेडी प्रमुख और पूर्व रेल मंत्री लालू प्रसाद यादव ने मीडिया से बातचीत में कहा कि जब लोगों को रेलवे में सुरक्षा की गारंटी ही नहीं है तो वे कैसे रेल में सफ़र कर सकते हैं.

वहीं कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट किया कि मोदी सरकार बनने के बाद से अभी तक सैकड़ों लोग रेल हादसों में अपनी जान गवां चुके हैं, सरकार कब जागेगी. सीपीएम नेता सीताराम येचुरी ने ट्वीट किया कि रेल बजट को आम बजट के साथ मिला दिया गया, नतीजा हमारे सामने है.

इमेज कॉपीरइट TWITTER

'ट्रेन का डिब्बा उछलकर मेरे घर पर गिरा, जैसे फ़िल्मों में होता है'

'.... आवाज़ सुनकर लगा कि हम मर जाएंगे'

पेशे से चार्टर्ड अकाउंटेंट सुरेश प्रभु ने 9 नवंबर 2014 को रेलमंत्री का पदभार संभाला था. उसके बाद से अभी तक देश में करीब 6 बड़े रेल हादसे हो चुके हैं. इन हादसों में सैकड़ों लोगों ने अपनी जान गंवाई है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

सुरेश प्रभु के रेल मंत्री बनने के बाद हुए रेल हादसे:

  • 13 फरवरी 2015: बंगलुरू सिटी-इर्नाकुलम इंटरसिटी एक्सप्रैस ट्रेन के 9 डिब्बे अनेकल के पास पटरी से उतर गए थे, 9 लोग मारे गए थे.
  • 20 मार्च, 2015: देहरादून से वाराणसी जा रही जनता एक्सप्रेस पटरी से उतर गई थी. इस हादसे में 34 लोग मारे गए थे.
  • 4 अगस्त 2015: मध्यप्रदेश में कुरावन और भृंगी स्टेशन के बीच कामायनी एक्स्प्रैस और जनता एक्सप्रैस पटरी से उतर गई थी, 31 लोग मारे गए थे.
  • 20 नवंबर 2016: कानपुर के पास पुखरायां में एक बड़ा रेल हादसा हुआ जिसमें कम से कम 150 से ज़्यादा लोगों की मौत हो गई.
  • 22 जनवरी 2017: आंध्रप्रदेश के विजयनगरम ज़िले में हीराखंड एक्सप्रेस के आठ डिब्बे पटरी से उतरने की वजह से क़रीब 39 लोग मारे गए.
  • 19 अगस्त 2017: मुज़फ्फ़रनगर ज़िले में कलिंग-उत्कल एक्सप्रैस के 13 डिब्बे पटरी से उतरे. अभी तक 23 लोगों के मारे जाने की ख़बर.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे