कलिंग-उत्कल ट्रेन हादसा: ट्रैक के साथ छेड़छाड़ पर क्या कहता है रेलवे?

कलिंग-उत्कल एक्सप्रेस

उत्तर प्रदेश के मुज़फ़्फ़रनगर के ख़तौली में शनिवार को हुए कलिंग-उत्कल ट्रेन हादसे में 21 लोगों की मौत हुई है. वहीं, 85 के क़रीब लोग घायल हुए हैं.

रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने ट्वीट कर कहा है कि रेलवे बोर्ड पहली नज़र में मिले सबूतों के आधार पर रविवार शाम तक इस मामले के लिए जिम्मेदारी तय करे.

'अचानक तीन झटके लगे और रेलगाड़ी पलट गई'

शाम तक तय हो हादसे की ज़िम्मेदारीः रेल मंत्री

इमेज कॉपीरइट Twitter

इसके बाद रेलवे बोर्ड के सदस्य मोहम्मद जमशेद ने प्रेस वार्ता करके इस हादसे से जुड़े कई सवालों के जवाब दिए हैं.

पढ़ें, मोहम्मद जमशेद ने क्या कहा -

  • अगर कोई रेलवे स्टाफ़ दोषी पाया जाता है तो हम कड़ी कार्रवाई करेंगे.
  • वहां (खतौली के पास दुर्घटनास्थल के पास) कुछ मरम्मत का काम चल रहा था, मुमकिन है कि इस वजह से उत्कल एक्सप्रेस पटरी से उतरी हो.
  • उत्कल एक्सप्रेस के पटरी से उतरने की रेलवे कमिश्नर (सुरक्षा) गहराई से जांच करेंगे.
  • हमारे पास ऑडियो क्लिप नहीं है जिसमें जो बातचीत है वो ऐसा लगता है कि रेल कर्मचारी और मीडियाकर्मी के बीच बातचीत है.
  • रेलवे में देखरेख, मरम्मत और जांच का एक मैनुअल होता है जिसका पालन किया जाता है.
  • आपातकालीन परिस्थिति में लाल झंडा लगाकर ट्रेन को रोकने का बंदोबस्त किया जाता है
  • ट्रैक के साथ छेड़छाड़ की ख़बरों को लेकर जांच की जाएगी और इसके बाद ही स्थिति साफ़ होगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे