#70yearsofpartition: भारत-पाकिस्तान में कैसे पढ़ाया जा रहा है बंटवारे से पहले का इतिहास?

स्काइप के ज़रिए बीबीसी उर्दू संवाददाता शुमाएला जाफ़री और पाकिस्तान के छात्रों से बातचीत
Image caption स्काइप के ज़रिए बीबीसी उर्दू संवाददाता शुमाएला जाफ़री और पाकिस्तान के छात्रों से बातचीत

1947 में भारत के बंटवारे से पहले का साझा इतिहास आज भारत और पाकिस्तान के बच्चों को कैसे पढ़ाया जा रहा है? दिल्ली में बीबीसी हिंदी संवाददाता दिव्या आर्य और रावलपिंडी में बीबीसी उर्दू संवाददाता शुमाएला जाफ़री ने स्कूली बच्चों से जब इसपर सवाल पूछे तो जवाब काफ़ी अलग मिले.

सवालः मोहम्मद अली जिन्ना के बारे में आप क्या जानते हैं?

पाकिस्तानः वो पाकिस्तान के 'कायदे-ए-आज़म' थे, उन्हें हिंदू-मुस्लिम एकता का दूत माना जाता था. अगर उन्होंने मुसलमानों के लिए अलग रियासत ना दिलवाई होती तो इस व़क्त भारत में हमारी हालत बहुत ख़राब होती.

भारतः जिन्ना उस व़क्त के जानेमाने व़कील थे जिन्होंने मुसलमानों के लिए अलग इलेक्टोरेट की मांग की. लेकिन ऐसा करने से हिंदू और मुसलमान अलग हो जाते इसलिए उनकी मांग नहीं मानी गई.

Image caption दिल्ली के छात्रों के साथ संवाददाता दिव्या आर्य

सवालः महात्मा गांधी के बारे में आप क्या जानते हैं?

पाकिस्तानः वो एक कट्टर हिंदू लीडर थे जिन्होंने हिंदुओं के हक़ में और मुसलमानों को दबाने के लिए काम किया. वो चाहते थे कि हिंदू और मुसलमान एक साथ रहें पर दोनों क़ौमें इतनी अलग हैं कि ये मुमकिन नहीं था.

भारतः वो हमारे परम पिता हैं जिन्होंने अहिंसा के बल पर हमें आज़ादी दिलाई. उन्होंने अनेक व्रत रखे. हिंदू-मुस्लिम एकता के लिए तो वो आमरण अनशन पर भी बैठ गए.

सवालः नेताजी सुभाष चंद्र बोस के बारे में आप क्या जानते हैं?

पाकिस्तानः नेताजी सुभाष चंद्र बोस के बारे में कुछ नहीं पढ़ाया जाता.

भारतः वो हिंसा के रास्ते ब्रितानी हुकूमत का विरोध करने में विश्वास करनेवाले स्वतंत्रता सेनानी थे और वो युवा वर्ग को अपनी ओर आकर्षित करना चाहते थे. उनका नारा था, 'तुम मुझे ख़ून दो, मैं तुम्हें आज़ादी दूंगा'.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption बंटवारे के बाद स्वर्ण मंदिर में जमा विस्थापित

सवालः बंटवारा क्यों हुआ था?

पाकिस्तानः इसकी सबसे बड़ी वजह ये थी कि दोनों क़ौमें एकदम अलग थीं, उनके रस्मो-रिवाज़, बोलचाल, इतिहास, रहने-सहने के तरीके सब अलग हैं तो ये मुमकिन ही नहीं था कि वो साथ रह सकें. अलग देश की मांग तब तेज़ हुई जब 1940 में लाहौर रेज़ल्यूशन पास हुई.

भारतः मुसलमानों को लगता था कि उन्हें भारत में पूरे अधिकार नहीं मिल रहे और उन्होंने अलग इलेक्टोरेट मांगीं पर गांधी जी इसके हक़ में नहीं थे क्योंकि इससे हिंदू और मुसलमान बंट जाते. इसी असहमति का फ़ायदा उठाकर ब्रितानियों ने देश का बंटवारा कर दिया.

सवालः भगत सिंह के बारे में आप क्या जानते हैं?

पाकिस्तानः वो एक लीडर थे जिनका जन्म भी पाकिस्तान में हुआ और मौत भी वहीं हुई.

भारतः वो महान स्वतंत्रता सेनानी थे जिन्होंने अंग्रेज़ों की महासभा में बम फोड़कर कहा था 'इंकलाब ज़िंदाबाद'.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption बंटवारे के बाद नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर मुस्लिम लीग के नैशनल गार्ड्स

सवालः 1857 की क्रांति के बारे में आप क्या जानते हैं?

पाकिस्तानः 10 अक्तूबर 1857 को हुई इस जंग की पहली गोली मंगल पांडे ने चलाई थी. इस जंग में हिंदू और मुसलमान दोनों शामिल थे.

भारतः ये वो व़क्त था जब बंदूकों में गाय और सूअर की चर्बी के बारे में जानकारी फैलने से हिंदू और मुसलमान सैनिकों ने मिलकर एक साथ ब्रितानी हुकूमत के ख़िलाफ़ विद्रोह किया लेकिन बाद में दोनों धर्मों में मतभेद पैदा हो गए.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे