कैसे कटी डेरा सच्चा सौदा में बीती रात

डेरा सच्चा सौदा इमेज कॉपीरइट AFP

रोहतक जेल में आज विशेष अदालत लगाई जाएगी, जिसमें गुरमीत राम रहीम को बलात्कार मामले में सजा का ऐलान होगा.

इससे पहले रविवार की रात को डेरा सच्चा सौदा में गहमागहमी का माहौल था. सजा ऐलान के बाद हिंसा फिर से न भड़क जाए, इस आशंका के देखते हुए श्रद्धालु आश्रम से अपने घर लौट रहे थे.

स्थानीय पुलिस के मुताबिक शाहपुर बेगू स्थित डेरा सच्चा सौदा के मुख्यालय को खाली कराया जा रहा है.

डिप्टी कमीश्नर प्रभोजोत सिंह ने बीबीसी को बताया कि करीब 4000 लोगों को बाहर भेजा गया है. उन्हें घर तक पहुंचाने के लिए हरियाणा रोडवेज की मदद ली जा रही है.

प्रशासन की ओर से डेरा से आधे किलोमीटर की दूरी पर बसों की व्यवस्था की गई है.

मीडिया पर नज़र रख रहे हैं राम रहीम के लोग

इमेज कॉपीरइट AFP

भक्तों की वापसी का इंतज़ाम

डेरा छोड़कर अपने घर पंजाब के मुक्तसर लौट रहे करणजीत सिंह ने बताया कि वह बिना किसी दबाव के घर लौट रहे हैं. प्रशासन की तरफ से उन्हें घर पहुंचाने की पेशकश की गई, जिसके बाद उन्होंने 11 लोगों के साथ पंजाब लौटने का फैसला किया.

हरियाणा रोडवेज के कर्मचारी आत्माराम ने बताया कि बसें पंजाब के विभिन्न इलाकों के लिए चलाई जा रही है.

हरियाणा रोडवेज के ही चीफ इंस्पेक्टर ध्यान सिंह ने बताया कि प्रशासनिक आदेश पर बसें तैनात की गई है. जरूरत पड़ने पर और भी बसें मंगाई जा सकती हैं.

डेरा के मुख्यद्वार के सामने हमारी मुलाक़ात वाहिद अली से हुई जो पिछले आठ महीनों से डेरा स्थित स्कूल में बायोलॉजी पढ़ा रहे थे. माहौल बिगड़ने की आशंका को देखते हुए वह बनारस लौट रहे हैं.

उनके साथ शनि विश्वकर्मा भी थे. वह भी बनारस लौट रहे थे. शनि कहते हैं, "मैं पिछले 3 साल से यहां हूं. यहां स्कूली बच्चों को फ्रेंच भाषा पढ़ाता था. फिलहाल करीब 138 बच्चों को फ्रेंच पढ़ा रहा था."

घर लौटने वालों की भीड़ में विजेंद्र भी मिलें. विजेंद्र साल 2013 में अपनी बेटी का इलाज कराने अमरोहा से डेरा पहुंचे थे.

गुरमीत राम रहीम के बाद डेरा का वारिस कौन?

शिक्षकों की वापसी

इमेज कॉपीरइट MANOJ DHAKA

विजेंद्र ने बताया, "बेटी के ठीक होने के बाद मेरा परिवार यहीं रहने की जिद करने लगा था. तब से हमलोग यहीं रह रहे थे."

इस क्रम में उनका 11वीं में पढ़ने वाला बेटा अंग्रेजी में बातचीत करता दिखा.

अधिकारियों ने बताया कि पंजाब में शुक्रवार के फैसले के बाद हुई हिंसा के आरोप में 11 लोगों को हिरासत में लिया गया है. गिरफ्तार लोगों पर पंजाब के मालवा इलाके में आगजनी का आरोप है.

अपुष्ट सूत्रों के मुताबिक गुरमीत राम रहीम केस की पीड़िता, सजा पर फैसला सुनाते वक्त अगर रोहतक में सीबीआई की स्पेशल कोर्ट में मौजूद रहना चाहें तो उन्हें यहां लाया जा सकता है. फिलहाल उन्हें दिल्ली में किसी सुरक्षित ठिकाने पर रखा गया है.

ग्राउंड रिपोर्ट: गुरमीत को सज़ा से पहले डरे हुए हैं सिरसा के लोग

हरियाणा के डीजीपी ने बताया है कि फैसला दोपहर ढाई बजे सुनाया जा सकता है.

सिरसा एसपी अश्विन शेनवी ने बताया कि इलाके में स्थिति नियंत्रण में हैं. स्थानीय पुलिस डेरा को खाली कराने का काम कर रही है. आपात स्थिति के लिए सेना बल भी मौजूद हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)