और तेज़ होगी टैक्सी ऐप के बीच जंग?
प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

और तेज़ होगी टैक्सी ऐप के बीच जंग?

उबर में बड़े स्तर पर एक और विदाई हुई है. भारत और दक्षिण एशिया में उसके चीफ़ ऑफ़ पॉलिसी ने कंपनी को अलविदा कह दिया है.

लेकिन तेज़ी से बढ़ते बाज़ार में रेडियो टैक्सी ऐप यूज़ करने वाले मुसाफ़िरों को इस ख़बर से ज़्यादा निराश नहीं होना चाहिए क्योंकि ये ख़बर भी आ रही है कि जापान का सॉफ़्टबैंक उबर में निवेश करने को लेकर दिलचस्प नज़र आ रहा है. इससे भारत में टैक्सी ऐप के बीच जारी जंग और तीखी हो सकती है.

पूरी कहानी समझा रही हैं मुंबई से योगिता लिमाय.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)