भाजपा को चुनावों में पाकिस्तान क्यों याद आता है?

नरेंद्र मोदी इमेज कॉपीरइट Getty Images

गुजरात के लिए जारी चुनावी घमासान के बीच बीजेपी नेताओं के भाषण में रविवार को 'पाकिस्तान' की एंट्री हुई.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आरोप लगाया कि गुजरात के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सीमापार से मदद से ले रहे हैं.

उन्होंने बनासकांठा के पालनपुर में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कहा कि पाकिस्तानी सेना के पूर्व डायरेक्टर जनरल सरदार अरशद रफ़ीक़ कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल को गुजरात का मुख्यमंत्री बनते देखना चाहते हैं.

इमेज कॉपीरइट AFP

ये पहली दफा नहीं है जब भाजपा ने चुनाव प्रचार में पाकिस्तान का जिक्र किया गया हो.

इससे पहले पार्टी के नेता लोकसभा और अतीत में हुए विधानसभा चुनावों की रैलियों में पाकिस्तान को एक चुनावी मुद्दे के रूप में उछाल चुके हैं.

आइए जानते हैं कि कब-कब भाजपा के नेताओं ने चुनावी रैलियों में पाकिस्तान का जिक्र किया.

मणिशंकर अय्यर के घर हुई कथित 'गुप्त' बैठक का सच!

मोदी ने पूछा, पाकिस्तान अहमद पटेल को गुजरात का सीएम क्यों बनाना चाहता है?

इमेज कॉपीरइट Getty Images
  • 19 अप्रैल 2014 को भाजपा नेता गिरिराज सिंह ने झारखंड के देवगढ़ में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कहा था प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी का विरोध करने वाले को पाकिस्तान जाना पड़ेगा. उन्होंने कहा था, "जो लोग मोदी का विरोध करते हैं, वे पाकिस्तान की ओर देख रहे हैं और ऐसे लोगों का स्थान पाकिस्तान में है, भारत में नहीं."
  • 29 अक्तूबर, 2015 को बिहार विधानसभा चुनावों के दौरान अमित शाह ने अपने भाषण में पाकिस्तान का जिक्र किया था. रक्सौल की एक रैली में उन्होंने कहा था, "ग़लती से भी अगर भारतीय जनता पार्टी बिहार में हार गई तो जय-पराजय तो यहां होगी, पटाखे पाकिस्तान में जलेंगे. क्या आप चाहते हैं कि पटाखे पाकिस्तान में जले...?"
  • चार फरवरी, 2017 को मेरठ में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पाकिस्तान के खिलाफ भारतीय सेना के सर्जिकल स्ट्राइक का जिक्र किया था. उन्होंने कहा था कि उनकी केंद्र की सरकार ने पाकिस्तान में घुसकर पाई-पाई का हिसाब चुकाया है.

गुजरात चुनाव से ठीक पहले बीजेपी सांसद ने दिया झटका

गुजरात चुनाव: विकास पहले 'पगलाया' फिर 'धार्मिक' बन गया

इमेज कॉपीरइट Getty Images
  • उत्तराखंड विधानसभा चुनावों में गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने भी पाकिस्तान के खिलाफ सर्जिकल स्ट्राइक का जिक्र किया था. छह फ़रवरी, 2017 को हरिद्वार के एक चुनावी रैली में राजनाथ सिंह ने सर्जिकल स्ट्राइक पर बोलते हुए कहा था कि कश्मीर तो भारत का अभिन्न हिस्सा है ही, बहस इस पर होनी चाहिए कि क्या पाकिस्तान का भी भारत में विलय हो जाए?
  • 24 फरवरी 2017 को गोंडा में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कानुपर में हुए रेल दुर्घटना के लिए पाकिस्तान को जिम्मेदार ठहराया था.
इमेज कॉपीरइट Getty Images
  • 27 नवंबर 2017 को गुजरात के कच्छ में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था, "पाकिस्तान की एक अदालत ने पाकिस्तानी आतंकवादी को रिहा कर दिया और कांग्रेस इसका जश्न मना रही है. मैं इस बात से आश्चर्य में था. ये वही कांग्रेस थी जिसने अपनी सेना के सर्जिकल स्ट्राइक पर विश्वास नहीं किया और चीनी राजदूत को गले लगाना पसंद किया."
  • 10 दिसंबर 2017 को गुजरात के बनासकांठा के पालनपुर में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए नरेंद्र मोदी ने कहा, "एक तरफ तो पाकिस्तान सेना के पूर्व डीजी गुजरात चुनाव में दखल दे रहे हैं, वहीं दूसरी तरफ पाकिस्तान के लोग मणिशंकर अय्यर के घर बैठक भी कर रहे हैं. इस बैठक के तुरंत बाद कांग्रेसी गुजरात के आम लोगों की, यहां की पिछड़ी आबादी की, गरीब लोगों की और मोदी की बेइज्जती करते हैं, क्या आपको नहीं लगता इन पर शक़ किया जाना चाहिए."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)