रीता जोशी गिरफ़्तार, घर पर आगज़नी

रीता जोशी
Image caption रीता जोशी को मुरादाबाद भेजा गया है

उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री मायावती के ख़िलाफ़ कथित अभद्र टिप्पणी के लिए कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष रीता बहुगुणा जोशी को गिरफ़्तार कर लिया गया है.

उन्हें ग़ाज़ियाबाद में गिरफ़्तार किया गया. ग़ाज़ियाबाद के पुलिस अधीक्षक अखिल कुमार ने बताया कि रीता जोशी को मुरादाबाद भेजा गया था.

गिरफ़्तारी के बाद देर रात लखनऊ स्थित रीता जोशी के आवास को बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के कार्यकर्ताओं ने निशाना बनाया. उन्होंने उनके घर को आग लगा दी और तोड़- फोड़ की. घर के बाहर खड़ी गाड़ी को भी आग लगा दी गई.

आगज़नी से पूरे घर को नुकसान पहुँचा है और कई सामान जल कर ख़ाक हो गए.

उनका घर मुख्यमंत्री कार्यालय से चंद क़दमों की दूरी पर है और आस-पास सुरक्षा के व्यापक इंतज़ाम होते हैं. पुलिस ने हमलावरों के ख़िलाफ़ कोई कार्रवाई नहीं की और वे भाग गए.

पुलिस अफ़सरों का कहना है कि अब उनके इलाहाबाद और लखनऊ स्थित घर पर सुरक्षा बलों को तैनात किया गया है.

प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता सुबोध श्रीवास्तव का कहना है कि घटना से पहले बुधवार रात करीब नौ बजे पुलिस के कुछ लोग आए थे और रीता जोशी के घर से उनके कुछ कर्मचारियों को ज़बर्दस्ती उठा ले गए थे.

उसके कुछ ही देर बाद एक बसपा विधायक और उनके समर्थक मुंह पर रुमाल बांधे हुए आए और हमला किया.

सुबोध श्रीवास्तव ने आरोप लगाया कि ये सारी कार्रवाई मुख्यमंत्री मायावती के इशारे पर की गई है.

गिरफ़्तारी

उत्तर प्रदेश पुलिस के मुताबिक रीता जोशी को गुरुवार मध्य रात ग़ाज़ियाबाद में दलित उत्पीड़न की कई धाराओं में गिरफ़्तार कर लिया गया.

रीता जोशी मुरादाबाद से दिल्ली जा रही थीं और उन्हें रास्ते में गाजियाबाद में गिरफ़्तार कर लिया गया.

अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक बृजलाल ने बताया कि श्रीमती रीता जोशी बहुगुणा ने मुरादाबाद में एक गाँव में उत्तेजनात्मक भाषण देते हुए मुख्यमंत्री मायावती के लिए अपशब्द कहे थे जिसके लिए उनके ख़िलाफ़ मझोला थाने में मुक़दमा दर्ज किया गया था और उसी सिलसिले में उनकी गिरफ़्तारी हुई है.

रीता जोशी ने अपने भाषण में इस बात का उल्लेख किया था कि जब किसी दलित महिला के साथ बलात्कार होता है तो पुलिस महानिदेशक बिक्रम सिंह मुरादाबाद, मथुरा और दूसरे जिलों में हेलीकॉप्टर से जाते हैं और 25 हज़ार रूपए का मुआवज़ा देते हैं जबकि उनके हेलीकॉप्टर पर सात लाख का खर्च आता है.

बताया जाता है कि जोशी ने अपने भाषण में कहा था कि, “मायावती सरकार दलितों के साथ बलात्कार की जो कीमत लगा रही हैं, उसे उनके मुँह पर फेंक देना चाहिए.”

संबंधित समाचार