कांग्रेस का बंद का आह्वान

सुरक्षाकर्मी
Image caption राज्य में कुछ महीनों में राजनीतिक हिंसा तेज़ हुई है

पश्चिम बंगाल में कांग्रेस पार्टी ने अपने विधायकों पर हुए हमले के विरोध में बारह घंटे के बंद का आह्वान किया है.

राज्य विधानसभा में कांग्रेस पार्टी के कुछ सदस्यों पर बुधवार को बर्धवान ज़िले के मंगलकोट में हमला हुआ जिनमें दस विधायक घायल हो गए. दो विधायकों की हालत गंभीर बनी हुई है.

कांग्रेस पार्टी ने इस हमले के लिए सत्तारुढ़ मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (सीपीएम) को ज़िम्मेदार ठहराया है.

इस घटना के विरोध में पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में गुरुवार को कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने विरोध प्रदर्शन किया और कई जगह हिंसा भी हुई.

कई स्थानों पर बसों और कारों में आग लगा दी गई. सियालदह और हावड़ा से भी इस तरह की घटना की ख़बर मिली है

पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा लेकिन फिर भी गुस्साए कार्यकर्ताओं को नियंत्रण करने में काफी मुश्किलें पेश आईं.

विधानसभा में कांग्रेस के नेता मानस भुईयाँ ने कहा, "हमने बुधवार की घटना के विरोध में शुक्रवार को बंद का आह्वान किया है".

मई में लोकसभा चुनावों के परिणाम सामने आने के बाद से ही पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस और कांग्रेस पार्टी के साथ सीपीएम कार्यकर्ताओं की झड़पें होती रही हैं.

संबंधित समाचार