शोपियाँ मामले पर विधानसभा में हंगामा

शोपियाँ पर आंदोलन
Image caption शोपियाँ की घटना का ज़बर्दस्त विरोध हुआ था

जम्मू-कश्मीर विधानसभा में शोपियाँ की घटना को लेकर सोमवार को ज़ोरदार हंगामा हुआ.

बजट सत्र के पहले ही दिन विपक्षी पीपुल्स डेमोक्रैटिक पार्टी (पीडीपी) ने शोपियाँ में दो महिलाओं की बलात्कार के बाद हत्या का मामला उठाया.

विधानसभा की कार्यवाही शुरु होते ही विधानसभा अध्यक्ष की अनुमति के बिना कई दलों ने इस मुद्दे को उठाने की कोशिश की.

विपक्ष की नेता महबूबा मुफ़्ती ने शोपियाँ की घटना के दोषियों को सज़ा दिलाने की माँग की. उनके साथ कुछ और नेता विधानसभा अध्यक्ष मोहम्मद अकबर के आसन की ओर बढ़े.

महबूबा मुफ़्ती ने टेबल पर लगे माइक को उखाड़ कर उसे उछाल दिया. इसके बाद विधानसभा अध्यक्ष ने सुरक्षाकर्मियों को महबूबा मुफ़्ती को बाहर निकालने का आदेश दिया.

इसके बाद कार्यवाही शुरु हुई और उन पूर्व विधानसभा सदस्यों को श्रद्धांजलि दी गई. मोहम्मद अकबर ने कहा कि वह निष्पक्षता के साथ कार्यवाही चलाएंगे लेकिन अनुशासनहीनता को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.

बाद में उन्होंने पीडीपी सदस्यों का निष्कासन भी वापस ले लिया. उपमुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने कहा कि विपक्ष को मंगलवार तक का इंतज़ार करना चाहिए था.

संबंधित समाचार