स्वाइन फ़्लू: छह की हालत गंभीर

स्वाइन फ़्लू
Image caption स्वाइन फ़्लू की जाँच के लिए अस्पतालों में भीड़ लगी

महाराष्ट्र के पुणे शहर में स्वाइन फ़्लू से पीड़ित छह लोगों की हालत गंभीर बनी हुई है.

पूरे देश में अब तक चार लोगों की इस बीमारी से मृत्यु हो चुकी है और विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक रविवार को स्वाइन फ़्लू के 82 नए मामले सामने आए हैं.

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण ने कहा है कि पूरे राज्य में स्वाइन फ़्लू की दवाइयाँ भेजी जा रही है.

महाराष्ट्र में स्वाइन फ़्लू से सबसे ज़्यादा दहशत है. अस्पतालों में लोगों की लंबी कतारें देखी गईं जो टेस्ट कराने आए थे.

उनका आरोप था कि अस्पताल वाले रविवार का हवाला देकर टेस्ट नहीं कर रहे हैं.

पुणे में छह लोगों की हालत नाज़ुक है जिनमें एक डॉक्टर भी शामिल हैं. पुणे में अब तक 35 लोगों के एच वन एन वन से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है.

मुंबई में 17 लोग इससे संक्रमित हैं.

पूरे भारत में अब तक स्वाइन फ़्लू से पीड़ित चार लोगों की मौत हो चुकी है.

इस बीच प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ग़ुलाम नबी आज़ाद के साथ स्वाइन फ़्लू पर चर्चा और ताज़ा स्थिति की समीक्षा की.

प्रधानमंत्री ने स्वास्थ्य मंत्री को हिदायत दी है कि वे राज्य सरकारों के साथ मिल कर बीमारी को नियंत्रित करने की कोशिश करें.

आज़ाद ने माँगी माफी

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ग़ुलाम नबी आज़ाद ने स्वाइन फ़्लू से दम तोड़ने वाली रिदा शेख पर की गई टिप्पणी के लिए माफी माँगी है.

रिदा शेख की माँ ने प्रेस कॉंफ़्रेंस करके स्वास्थ्य मंत्री की आलोचना की थी. आज़ाद ने अपने एक बयान में कहा था कि रिदा एच वन एन वन से संक्रमित होने के बाद तीन अस्पतालों में गई जिसके कारण अस्सी से ज़्यादा लोग इससे संक्रमित हो गए.

उनके इस बयान को अपमानजनक बताते हुए रिदा की माँ ने कहा था, "स्वास्थ्य मंत्री को शर्म आनी चाहिए जो 14 साल की लड़की पर स्वाइन फ़्लू फैलाने का आरोप लगा रहे हैं."

इसके बाद ग़ुलाम नबी आज़ाद ने कहा कि उनका मतलब रिदा के परिजनों को ठेस पहुँचाना या रिदा पर आरोप लगाना नहीं था. उन्होंने कहा, "मेरा कहने का मतलब ये था कि स्वाइन फ़्लू संक्रामक बीमारी है और एक-दूसरे के संपर्क में आने पर तेज़ी से फ़ैलती है."

कुल 864 संक्रमित

Image caption भारत में रविवार को 82 नए मामले सामने आए हैं.

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने रविवार को स्वाइन फ़्लू पर ताज़ा रिपोर्ट जारी की है जिसके मुताबिक भारत में 864 लोग एच वन एन वन से संक्रमित पाए गए हैं.

इनमें से 523 को इलाज के बाद अस्पतालों से छुट्टी दे दी गई है.

पूरी दुनिया में अब तक 1154 लोग इस बीमारी के कारण दम तोड़ चुके हैं और एक लाख 62 हज़ार 380 लोग इस बीमारी से पीड़ित पाए गए हैं.

डब्ल्यूएचओ के मुताबिक भारत में रविवार को 82 लोग इस बीमारी से संक्रमित पाए गए.

इनमें सबसे ज़्यादा संख्या पुणे की है जहां 34 लोग एच वन एन वन से संक्रमित पाए गए हैं. दिल्ली में 13 और मुंबई में 12 लोगों में यह बीमारी होने की पुष्टि हुई है.

चार मौत

इस बीच देश में स्वाइन फ़्लू से मरने वालों की संख्या बढ़कर चार हो गई है. रविवार सुबह अहमदाबाद में 43 वर्षीय एक अप्रवासी भारतीय की मौत हो गई.

Image caption मनमोहन सिंह ने स्वास्थ्य मंत्री से बात की है

प्रवीण पटेल 10 दिन पहले अमरीका के अटलांटा से अहमदाबाद आए थे. रविवार तड़के सिटी सिविल अस्पताल में उनकी मौत हो गई.

स्वाइन फ़्लू के कारण सबसे पहले पुणे में 14 वर्षीय स्कूली छात्रा रिदा शेख़ की मौत हो गई थी.

जबकि शनिवार को पुणे में ही 42 वर्षीय संजय तुकाराम की मौत हो गई. शनिवार को ही मुंबई में 53 वर्षीय फ़हमिदा पानवाला की भी स्वाइन फ़्लू के कारण मौत हो गई.

हालाँकि फ़हमिदा को डायबिटीज़ और हाईपरटेंशन की भी शिकायत थी.

संबंधित समाचार