रैगिंग में 18 छात्र निलंबित

छात्र
Image caption दो छात्रों को पुलिस ने गिरफ़्तार कर लिया है.

राजस्थान में कथित रूप से अपने से कनिष्ठ छात्रों की रैगिंग लेना 18 वरिष्ठ छात्रों को मंहगा पड़ा.

जयपुर के एसएमएस मेडिकल कॉलेज प्रबंधन ने इन 18 छात्रों को तीन माह के लिए निलंबित कर दिया है.

साथ ही इनमें से दो को पुलिस ने गिरफ़्तार कर लिया है.

मेडिकल कॉलेज प्रशासन को सूचना मिली थी कि वरिष्ठ छात्र अपने से जूनियर कोई तीस छात्रों को बस में भर कर किसी स्थान पर रैगिंग के लिए ले गए है. पुलिस ने छानबीन की तो इसकी पुष्टि हो गई.

बाद में इन छात्रों को रैगिंग के चंगुल से निकाल लिया गया. मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल अशोक पानगडिया ने मीडिया को बताया की इनमे से 18 को तीन माह के लिए निलंबित कर दिया गया है.

कॉलेज ने अब इनका मामला रैगिंग पर बनी समिति को सौंप दिया है. ये समिति आगे कार्रवाई करेगी.

कॉलेज प्रशासन का कहना है की शुरुआती कार्रवाई के बाद समिति की जाँच पड़ताल के बाद कार्रवाई की जाएगी.

प्रशासन को लगता है कि रैगिंग के इस काम में इन 18 छात्रों के अलावा और भी छात्र थे, उनका पता लगाया जा रहा है.

इस बीच पुलिस ने उनमें से दो वरिष्ठ छात्रों को गिरफ्तार कर लिया है, इन दोनों को पुलिस ने छात्रों को जबरन ले जाने और सताने के आरोप में गिरफ्तार किया है.

रैगिंग से छूटे जूनियर छात्रो ने निलंबित किए गए छात्रो की शिनाख्त की थी. इसके बाद ही कार्रवाई की गई.

ये पहला मौक़ा है जब कॉलेज प्रशासन ने इतनी बड़ी कार्रवाई की है.

संबंधित समाचार