झारखंड बंद के दौरान माओवादी हिंसा

माओवादी (फ़ाइल फ़ोटो)
Image caption माओवादियों ने पाँच राज्यों में दो दिन के बंद का आयोजन किया है

भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (माओवादी) ने अपने दो कार्यकर्ताओं की कथित गिरफ़्तारी के विरोध में पांच राज्यों- झारखंड, पश्चिम बंगाल, बिहार, उड़ीसा और छत्तीसगढ़ में सोमवार से दो दिनों का बंद आयोजित किया है.

इस दौरान झारखंड में दो स्थानों पर हिंसा हुई है और माओवादियों ने झारखंड के कौमुंडी और हेहेगड़ा के बीच रेल पटरी को विस्फोट से उड़ा दिया है.

इसकी वजह से पूर्व मध्य रेल मार्ग पर रेलों का परिचालन ठप हो गया है.

ग़ौरतलब है कि ये रेल मार्ग घने जंगलों से होकर गुजरता है और पिछली बार इसी इलाक़े में माओवादियों ने एक ट्रेन पर कब्ज़ा कर लिया था.

साथ ही माओवादियों ने पलामू ज़िले के विश्रामपुर में एक मोबाइल टावर को उड़ा दिया है.

यातायात पर असर

बंद के कारण झारखंड में बसें, ट्रक और सार्वजनिक यातायात के छोटे भी वाहन नहीं चल रहे हैं.

सीपीआई (माओवादी) के नेता कोटेश्वर राव उर्फ़ किशनजी ने बीबीसी को बताया कि पार्टी केंद्रीय समिति के अपने सदस्यों की रिहाई की मांग को लेकर बंद की अपील की है जिन्हें बिहार पुलिस ने 19 अगस्त को रांची से पटना जाते हुए गिरफ़्तार कर लिया था.

किशनजी ने आरोप लगाया कि दोनों का अब तक पता नहीं चल सका है और पुलिस ने दोनों को अदालत के सामने पेश भी नहीं किया है.

दूसरी ओर रांची के पुलिस अधीक्षक प्रवीण कुमार सिंह का कहना था कि पुलिस प्रशासन को ऐसी किसी भी गिरफ़्तारी की जानकारी नहीं है.

संबंधित समाचार