'बड़ी मछलियों को सज़ा मिले'

मनमोहन सिंह
Image caption मनमोहन सिंह ने साफ़ कहा है कि बड़े लोगों को भी न बख्शा जाए.

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने सीबीआई और भ्रष्टाचार के ख़िलाफ़ काम करने वाले अधिकारियों से साफ़ कहा है कि वो भ्रष्टाचार में लिप्त ‘बड़ी मछलियों’ को निशाना बनाएं न कि छोटे मोटे मामलों में उलझे रहें.

केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो यानी सीबीआई, राज्यों के आतंकवाद निरोधक एजेंसियों के दो दिवसीय सम्मेलन को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि कई बार परेशान किए जाने के डर से सरकारी अधिकारी बहुत धीरे धीरे काम करते हैं.

उनका कहना था, ‘कई बार ऐसा होता है कि सरकारी अधिकारी प्रताड़ना और प्रतिष्ठा को ख़तरे के डर से धीरे धीरे काम करते हैं और इससे पूरी सरकारी मशीनरी धीमी हो जाती है.’

प्रधानमंत्री ने ज़ोर देकर कहा, ‘ उच्च स्तर पर हो रहे भ्रष्टाचार के साथ कड़ाई से निपटने की ज़रुरत है.’

उनका कहना था कि ऐसी भावना है कि छोटे मोटे मामलों से जल्दी निपटा जाता है जबकि जो बड़े मामले होते हैं उसमें ‘बड़ी मछलियों’ को सज़ा नहीं मिलती है.

मनमोहन सिंह का कहना था कि सरकार ने 71 नए सीबीआई कोर्ट शुरु करने का फ़ैसला किया है वो उम्मीद करते हैं कि ये अदालतें एक मॉडल की तरह काम करेंगी. इन अदालतों में हर दिन सुनवाई होगी और अनावश्यक देरी नहीं होगी.

उनका कहना था कि उच्च स्तर पर भ्रष्टाचार के आरोपों के साथ जल्दी और सही तरीके से निपटना उनके सरकार की शीर्ष प्राथमिकताओं में रहेगा.

संबंधित समाचार