स्वाइन फ़्लू से अब तक 93 मौतें

Image caption अधिकारियों का कहना है कि स्वाइन फ़्लू की स्क्रीनिंग के लिए आने वाले लोगों की संख्या घट रही है

भारत में स्वाइन फ़्लू से चार और लोगों की मौत के साथ ही इस बीमारी से वालों की संख्या बढ़ कर 93 हो गई है.

स्वाइन फ़्लू ने शुक्रवार को कर्नाटक में तीन लोगों की जान ली, जबकि एक व्यक्ति की मौत महाराष्ट्र में हुई.

कर्नाटक में अधिकारियों के अनुसार राजधानी बंगलुरू के एक निजी अस्पताल में दो महिलाओं ने स्वाइन फ़्लू के असर से दम तोड़ दिया, जबकि बीजापुर में एक तीन वर्षीय लड़के की स्वाइन फ़्लू से मौत होने की पुष्टि हुई है.

महाराष्ट्र में स्वाइन फ़्लू से मौत की ताज़ा घटना नासिक की है.

समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार पूरे भारत में एच1एन1 वायरस से संक्रमण के 139 नए मामले भी प्रकाश में आए हैं. इसी के साथ भारत में स्वाइन फ़्लू रोगियों की संख्या साढ़े तीन हज़ार को पार कर गई है.

महाराष्ट्र में सर्वाधिक मामले

संक्रमण के नए मामलों में सर्वाधिक 24 दिल्ली के हैं. जबकि केरल में स्वाइन फ़्लू के 24, महाराष्ट्र में 20, तमिलनाडु में 19 और आंध्रप्रदेश में 12 मामलों का पता चला है.

अभी तक के पूरे आंकड़ों की बात की जाए तो महाराष्ट्र 1519 मामलों के साथ भारत के स्वाइन फ़्लू प्रभावित राज्यों में पहले नंबर पर है. जबकि 576 मामलों के साथ दिल्ली का नंबर दूसरा है.

इस बीच राजधानी दिल्ली में स्वास्थ्य अधिकारियों का कहना है कि एच1एन1 वायरस को लेकर अतिशय डर का माहौल ख़त्म हो गया है, और स्वाइन फ़्लू स्क्रीनिंग केंद्रों तक पहुँचने वाले लोगों की संख्या दिन-प्रतिदिन घटती जा रही है.

पूरे भारत में अब तक स्वाइन फ़्लू के लिए क़रीब 20 हज़ार लोगों से लिए गए चिकित्सकीय नमूनों की जाँच की जा चुकी है.

भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद के महानिदेशक विश्वमोहन कटोच के अनुसार स्वाइन फ़्लू स्क्रीनिंग पर भारत मई से अब तक क़रीब 11 करोड़ रुपये ख़र्च कर चुका है.

संबंधित समाचार