बिहार उप-चुनावों में 42 प्रतिशत मतदान

बिहार विधानसभा
Image caption जब 18 विधायक सांसद चुने गए तो उनकी सीटें खाली हो गईं

बिहार में विधानसभा की खाली हुई अठारह सीटों के लिए हो रहे उपचुनावों के पहले चरण में गुरुवार को सात विधानसभा सीटों पर मतदान पूरा हो गया है. गुरुवार को हुए मतदान में औसतन 42 प्रतिशत वोट पड़े हैं और मतदान शांतिपूर्ण रहा है.

अठारह विधायकों के सांसद चुने जाने से ये विधानसभा सीटे खाली हुई थीं और दूसरे चरण में बाक़ी की 11 सीटों पर मतदान होगा.

गुरूवार को राज्य के रामगढ, चैनपुर, कल्याणपुर, वारिसनगर, चेनारी, बोचहा और औराई में मतदान हुआ.

इनमें सबसे कम - औराई और बोचहा में 34 से 36 प्रतिशत के बीच वोट पड़े.

बहिष्कार भी हुआ

राज्य के संयुक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी अंशुमाली ने बीबीसी को बताया, "मुज़फ़्फ़रपुर ज़िले के औराई और बोचहा विधानसभा क्षेत्रों में पांच मतदान केंद्रों पर कोई वोट डालने नहीं पहुँचा. यही स्थिति रामगढ विधानसभा क्षेत्र के भी दो मतदान केंद्रों पर देखी गई. वहाँ स्थानीय समस्याओं के प्रति राज्य सरकार के तथाकथित रवैए के विरोध में वोट का बहिष्कार किया गया."

उधर रामगढ के एक और चैनपुर के चार मतदान केंद्रों तक पोलिंग पार्टी पहुँच ही नहीं पाई. कारण ये था कि ये पाँचों मतदान केंद्र भारी जलजमाव से घिरे हुए थे.

चैनपुर और रामगढ विधानसभा क्षेत्रों में ही मतदान का प्रतिशत अच्छा रहा. वहाँ 49 से 51 प्रतिशत के बीच वोट पड़े. अब उप-चुनाव वाले बाकी 11 विधानसभा क्षेत्रों में चुनाव प्रचार ख़ासा ज़ोर पकड़ चुका है, जहाँ 15 सितंबर को मतदान होना है.

संबंधित समाचार