सीमा पर गाँव में तीन रॉकेट गिरे

वाघा सीमा पर भारत-पाक झंडे
Image caption अमृतसर ज़िले के भारत-पाकिस्तान सीमा से सटे दो गाँवों में रॉकेट गिरने से लोग भयभीत हैं

भारतीय पंजाब के अमृतसर ज़िले में भारत-पाकिस्तान सीमा से सटे दो गाँव में शुक्रवार देर रात तीन रॉकेट गिरे हैं. भारतीय अधिकारियों के अनुसार रॉकेट खेतों में गिरे हैं और इनसे जान-माल का कोई नुक़सान नहीं हुआ है.

अमृतसर स्थित एक स्थानीय पत्रकार ने भारतीय अधिकारियों और प्रत्यक्षदर्शियों के हवाले से कहा कि ये रॉकेट पाकिस्तान की सीमा से आए लेकिन पाकिस्तान की ओर से इन आरोपों पर फ़िलहाल कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है.

स्थानीय पत्रकार धर्मेंद्र रटौल के अनुसार सीमा सुरक्षा बल के महानिरीक्षक हिम्मत सिंह ने घटना की पुष्टी करते हुए कहा कि हाल के वर्षों में पहली बार भारतीय सीमा सुरक्षा बल ने मशीन गनों से जवाबी कार्रवाई की है.

क्षेत्र की घेराबंदी, लोग भयभीत

शुक्रवार रात भारतीय समायानुसार लगभग साढ़े दस बजे अमृतसर ज़िले के अटारी सीमा सैक्टर में सीमा से दो-ढाई किलोमीटर स्थित मोदे गाँव और लगभग एक किलोमीटर दूर स्थित धनोए कलाँ गाँव के खेतों में गिरे.

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार गाँववासी परेशान होकर अपने घरों से बाहर निकल आए और देर रात तक अपने घरों में जाने से हिचकिचा रहे थे.

भारत के सीमा सुरक्षा बल ने उस क्षेत्र में एलर्ट घोषित किया है.

अमृतसर ज़िले के पुलिस प्रमुख कंवर विजय प्रताप सिंह के साथ-साथ उपमहानिरीक्षक परमपाल सिंह सिंद्धू और अन्य पुलिस अधिकारियों ने उस क्षेत्र की घेराबंदी कर ली है जहाँ रॉकेट गिरे हैं.

इससे पहले इस साल पाँच जुलाई को भी अमृतसर ज़िले में सीमा से सटे गाँवों में तीन रॉकेट गिरे थे और भारतीय सीमा सुरक्षा बल ने पाकिस्तान रेंजर्स के साथ अपनी बैठक में इस पर आपत्ति जताई थी.

संबंधित समाचार