स्वाइन फ़्लू से दो सौ से अधिक मौतें

स्वाइन फ़्लू
Image caption स्वाइन फ़्लू संक्रमण का ख़तरा अभी बना हुआ है

भारत में पिछले दो दिनों में हुई नौ और मौतों के बाद स्वाइन फ़्लू से मरने वालों की संख्या दो सौ के पार चली गई है.

स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारियों के अनुसार अब तक कुल 202 इस बीमारी से मारे गए हैं.

सबसे अधिक लोग महाराष्ट्र में मारे गए हैं. अकेले पुणे में अब तक 44 लोगों की मौत हो चुकी है.

दूसरी ओर देश भर में स्वाइन फ़्लू के 229 नए मामले सामने आए हैं.

मौतें

स्वाइन फ़्लू से मौत की सबसे ताज़ा ख़बर पुणे से आई है जहाँ मंगलवार की रात एक 30 वर्षीय महिला की मौत हो गई. इसके साथ ही वहाँ मरने वालों की संख्या 44 हो गई है.

मंगलवार को दिल्ली में दो और मौतों की ख़बर मिली थी और इसके बाद राजधानी में मरने वालों की संख्या 10 हो गई थी.

दिल्ली में स्वाइन फ़्लू के 70 और मामले सामने आए हैं.

समाचार एजेंसियों ने दिल्ली की स्वास्थ्य मंत्री किरण वालिया के हवाले से कहा है कि दिल्ली में अब तक 1,415 मामले मिले हैं जिसमें से 1,262 लोगों को प्राथमिक चिकित्सा के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है.

जबकि पुणे में अभी भी 21 मरीज़ों को सघन चिकित्सा केंद्र में रखा गया है.

विश्व स्वास्थ्य संगठन चिंता जता चुका है कि वायरस कहीं अपना रुप बदलकर ज्यादा ख़तरनाक न हो जाए. विशेषज्ञों का कहना है कि फ्लू के सभी वायरसों की तरह एच1एन1 में भी रूप बदलने की क्षमता है.

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने चेतावनी दी है कि आने वाले समय में मौसम परिवर्तन के कारण विश्व के उत्तरी हिस्से में स्वाइन फ़्लू का ख़तरा और बढ़ सकता है.

संबंधित समाचार