दो साल में विशिष्ट पहचान पत्र

पी चिदंबरम
Image caption चिदंबरम का मानना है कि यूनीक आइडेंटिटी कार्ड प्रोजेक्ट समय पर पूरा हो जाएगा

भारत के गृह मंत्री पी चिदंबरम ने कहा है कि 2010-11 तक देश के सभी नागरिकों को विशिष्ट पहचान पत्र उपलब्ध करा दिए जाएँगे.

चेन्नई में एक कार्यक्रम के दौरान संवाददाताओं से बातचीत में उन्होंने कहा कि पहले चरण में समुद्रतटीय इलाक़ों के 3,331 गांवों और शहरों के लोगों को पहचान पत्र दिए जाएँगे.

चिदंबरम ने कहा कि पहले चरण में लगभग एक करोड़ 20 लाख लोगों को कार्ड उपलब्ध कराए जाएँगे. 2010-2011 तक प्रस्तावित विशिष्ट पहचान पत्र एक अरब 10 करोड़ लोगों को जारी किए जाएँगे.

भारत सरकार ने इस ख़ास कार्ड के लिए यूनीक आइडेंटिफिकेशन ऑथॉरिटी बनाई है. नंदन नीलेकणि को इस प्राधिकरण का अध्यक्ष बनाया गया है.

इस बहुउद्देशीय कार्ड का इस्तेमाल बैंक खाता खोलने, टेलिफ़ोन कनेक्शन लेने जैसे कामों में पहचान के सबूत के तौर पर हो सकता है.

संबंधित समाचार