नलिनी का अनशन

नलिनी मुरुगन ( फोटो एपी)
Image caption नलिनी और मुरुगन को गिरफ्तार किया गया था. बाद मे दोनों ने शादी कर ली थी.

पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या के मामले में आजीवन कारावास की सज़ा झेल रही नलिनी ने वेल्लोर जेल में रिहाई की मांग को लेकर अनिश्चितकालीन अनशन शुरु कर दिया है.

नलिनी को पहले मृत्युदंड दिया गया था जिसे बाद में बदल कर आजीवन कारावास कर दिया गया था.

वेल्लोर जेल की पुलिस अधीक्षक जया भारती ने फोन पर नलिनी के अनशन की पुष्टि की है.

जेल अधिकारियों ने बताया कि नलिनी ने सोमवार की सुबह से कुछ भी खाना बंद कर दिया है और मांग की है कि उनकी रिहाई पर फ़ैसला करने के लिए जल्दी जल्दी सलाहकार बोर्ड का गठन किया जाए.

नलिनी अब तक वेल्लोर जेल में 18 साल बिता चुकी है और उनका कहना है कि आजीवन कारावास की निर्धारित 14 साल की सज़ा वो पूरी कर चुकी हैं.

इससे पहले नलिनी ने रिहाई की मांग को लेकर मद्रास हाई कोर्ट में याचिका भी दायर की थी. उन्होंने अपनी याचिका में यह भी कहा था कि उन्हें राजीव की विधवा सोनिया गांधी और बेटी प्रियंका ने भी माफ़ कर दिया है इसलिए उन्हें रिहा किया जाना चाहिए.

नलिनी और मुरुगन को राजीव गांधी की हत्या के मामले में गिरफ़्तार किया गया था और सज़ा सुनाई गई थी. बाद में दोनों ने शादी कर ली थी.

नलिनी ने पिछले दिनों जेल से ही एमसीए की पढ़ाई पूरी की है.

संबंधित समाचार