'आतंक के इस्तेमाल पर रवैया बदलें'

मनमोहन
Image caption मनमोहन सिंह ने ये भी कहा कि पाकिस्तान हाफ़िज़ सईद के ख़िलाफ़ कार्रवाई करे

भारत के प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा है कि 'भारत पाकिस्तान के साथ रिश्ते सामान्य बनाना चाहते है लेकिन पाकिस्तान को सरकारी नीति के तहत आतंक के इस्तेमाल का पुराना रवैया बदलना होगा.'

ग़ौरतलब है कि भारत के प्रधानमंत्री ने पिट्सबर्ग में एक संवाददाता सम्मेलन के दौरान ये टिप्पणी तब की है जब रविवार को भारत और पाकिस्तान के विदेश मंत्रियों की संयुक्त राष्ट्र अधिवेशन के दौरान बातचीत होनी है.

उधर पाकिस्तान के राष्ट्रपति आसिफ़ अली ज़रदारी ने संयुक्त राष्ट्र को संबोधित करते हुए कहा है कि दक्षिण एशिया में स्थायी शांति कायम करने के लिए कश्मीर का मुद्दा हल करना ज़रूरी है.

जरदारी का कहना था, "हम भारत के साथ सारे मुद्दों को शांति से सुलझाना चाहते हैं. दक्षिण एशिया में स्थाई शांति और स्थिरता कायम करने के लिए कश्मीर विवाद को सुलझाने के लिए ठोस प्रगति करना भी ज़रूरी है."

'साज़िश पाकिस्तान में'

पिट्सबर्ग में जी-20 देशों के सम्मेलन के बाद एक संवाददाता सम्मेलन में एक सवाल के जवाब में प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने भारत-पाक रिश्तों पर रवैया स्पष्ट किया.

उनका कहना था, "भारत का संदेश स्पष्ट है. वह पाकिस्तान के साथ रिश्ते सामान्य करना चाहता है. इसमें अड़चन यही है कि पाकिस्तान सरकारी नीति के तहत आतंक के इस्तेमाल के पुराने रवैए को बदले."

मनमोहन सिंह का ये भी कहना था, "हमें उम्मीद है कि जो सामग्री हमने पाकिस्तान को मुंबई नरसंहार के बारे में सौंपी है, उसके आधार पर जाँच हो...क्योंकि हादसा तो भारत में हुआ था लेकिन साज़िश तो पाकिस्तान में रची गई थी...और पाकिस्तान ये मान भी चुका है."

उनका कहना था कि इससे पहले कि भारत-पाक समग्र वार्ता शुरु हो, पाकिस्तान को हाफ़िज़ सईद के ख़िलाफ़ मुकदमा चलाना चाहिए.

संबंधित समाचार