पश्चिम बंगाल में माओवादी हमला

नक्सली
Image caption नक्सलियों ने दो पुलिसकर्मियों को बंधक बना लिया है.

पश्चिम बंगाल में माओवादियों ने सांकराइल शहर के थाने और एक बैंक पर मंगलवार को एक साथ हमला कर दिया.

इस हमले में एक पुलिस अधिकारी की मौत हो गई है.

माओवादियों ने थाने के प्रभारी और एक सिपाही को बंधक बना लिया है.

पश्चिमी मिदनापुर ज़िले के अधिकारियों ने बताया कि माओवादियों ने सबसे पहले सरेआम बैंक पर हमला कर पैसे लूट लिए. जैसे ही बैंक से किसी ने निकटवर्ती पुलिस थाने को सूचित किया, वहां भी माओवादियों के एक अलग दस्ते ने हमला कर दिया.

इस हमले में एक पुलिस अधिकारी की मौत हो गई. माओवादियों ने थाने से हथियार भी लूट लिए और दो पुलिसकर्मियों को बंधक बना कर अपने साथ लेते गए.

'हत्या नहीं करेंगे'

अधिकारियों के मुताबिक माओवादी लगभग 50 की संख्या में थे और मोटरसाइकल पर सवार हो कर आए थे. प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि बंधक पुलिसकर्मियों को माओवादियों ने मोटरसाइकल पर ही बैठा लिया.

इसी साल जून में माओवादियों के ख़िलाफ़ अभियान के बाद पहली बार विद्रोहियों ने इस तरह का हमला किया है.

इस बीच माओवादियों के शीर्ष नेता कोटेश्वर राव उर्फ़ किशनजी ने बीबीसी को फ़ोन पर बताया है कि बंधक बनाए गए पुलिसकर्मी सुरक्षित हैं.

उन्होंने कहा कि दोनों को युद्धबंदी की श्रेणी में रखा गया है और उनकी हत्या नहीं की जाएगी. किशनजी ने कहा कि दोनों को माओवादियों की जेल में रखा गया है.

उन्होंने कहा कि जब तक लालगढ़ आंदोलन के दौरान पकड़ी गई निर्दोष महिलाओं को सरकार जेल से रिहा नहीं करती तब तक वे इन दोनों को नहीं छोड़ेंगे.

संबंधित समाचार