'नहीं हुआ रेलवे में रिकॉर्ड मुनाफ़ा'

Image caption ममत बैनर्जी ने संसद में श्वेत पत्र पेश किया

रेल मंत्री ममता बैनर्जी ने लोक सभा में रेलवे का कामकाज पर श्वेत पत्र रखा है. इसमें पूर्व रेल मंत्री लालू प्रसाद के उन दावों को ग़लत बताया गया है कि पिछले कुछ सालों में रेलवे ने रिकॉर्ड मुनाफ़ा कमाया है.

श्वेत पत्र में कहा गया है कि लालू प्रसाद के कार्यकाल के दौरान प्रदर्शन औसत से भी कम रहा यानी 2004-05 से लेकर 2009-09 के बीच.

शोर शराबे के बीच रखे गए श्वेत पत्र में कहा गया है, "रेलवे में हुए विकास के दावों के विश्लेषण से पता चला है कि पिछले कुछ सालों में प्रदर्शन बहुत अच्छा नहीं था."

जब समय रिपोर्ट सदन में पेश की गई लालू प्रसाद वहाँ मौजूद थे.

रेल मंत्री के अपने कार्यकाल के दौरान लालू प्रसाद दावा करते रहे हैं कि उन्होंने भारतीय रेल का चेहरा बदल दिया है. यहाँ तक कि भारतीय प्रबंधन संस्थान(आईआईएम) अहमदाबाद ने अपने यहाँ उनकी पाठशाला भी करवाई थी जिसमें लालू ने छात्रों को प्रबंधन के गुर सिखाए.

पिछले साल रेल बजट पेश करते हुए लालू प्रसाद ने कहा था कि वर्ष 2007-08 में रेलवे को 25 हज़ार करोड़ रूपए का मुनाफ़ा हुआ है.

भारतीय रेल सेवा विश्व के तीसरी सबसे बड़ी सेवा मानी जाती है. पिछले वित्त वर्ष के दौरान भारतीय रेल पर करीब एक करोड़ नब्बे लाख लोगों ने सफ़र किया.

संबंधित समाचार