नाटकीय ढंग से 'लापता' सांसद मिले

विजयवाड़ा के सांसद एल राजगोपाल
Image caption एल राजगोपाल विजयवाड़ा से सांसद और कांग्रेस के क़द्दावर नेता हैं.

पृथक तेलंगाना के विरोध में आमरण अनशन पर बैठे विजयवाड़ा के सांसद एल राजगोपाल नाटकीय अंदाज़ में 'लापता' होने के बाद सोमवार को हैदराबाद में मिल गए है.

रविवार को राजगोपाल विजयवाड़ा के एक सरकारी अस्पताल से इलाज के दौरान लापता हो गए थे. हालाँकि वो पुलिस निगरानी में थे. वो लगभग 14 घंटों तक लापता रहे.

उनके हैदराबाद पहुँचने से पृथक तेलंगाना के विरोध और पक्ष की राजनीति गरमा गई है और पृथक तेलंगाना के समर्थक ग़ुस्से में हैं.

राजगोपाल पुलिस को धोखे में रखकर बस से हैदराबाद पहुँचे हैं. वो विजयवाड़ा से कांग्रेस के एक क़द्दावर नेता हैं.

इस बीच राज्य के मुख्यमंत्री के रोसैया का कहना है कि समस्या का हल उनके पास नहीं है और केंद्र सरकार को इसका हल तलाशना चाहिए.

जाँच के आदेश

राज्य सरकार ने राजगोपाल के लापता होने के मामले को गंभीरता से लेते हुए विजयवाड़ा के पुलिस आयुक्त राजेंद्र नाथ रेड्डी समेत छह पुलिस अधिकारियों को निलंबित कर दिया है. दूसरी ओर सांसद के ख़िलाफ़ भी मुक़दमा दर्ज किया गया है.

इस पूरे मामले की जाँच के आदेश दिए गए हैं.

फ़िलहाल एल राजगोपाल हैदराबाद के नेज़ाम इंस्टीट्यूट ऑफ़ मेडिकल साइंस अस्पताल में भर्ती हैं. पृथक तेलंगाना के कुछ समर्थकों ने अस्पताल में घुसने की कोशिश की है. जिसके मद्देनज़र प्रशासन ने अस्पताल की सुरक्षा बढ़ा दी है और पुलिस के साथ-साथ दंगा विरोधी पुलिस- आएएफ़ तैनात किया है.

ग़ौरतलब है कि तेलंगाना के विरोध में आंध्र प्रदेश और रायलसीमा में विरोध प्रदर्शनों का 13वाँ दिन है. जिससे उन इलाकों में आम जनजीवन अस्तव्यस्त है.

संबंधित समाचार