सोरेन को सरकार बनाने का न्यौता

शिबू सोरेन
Image caption शिबू सोरेन को भाजपा का समर्थन हासिल है

झारखंड में नई सरकार बनने का रास्ता साफ़ हो गया है.

राज्यपाल के शंकर नारायणन ने झारखंड मुक्ति मोर्चा के अध्यक्ष शिबू सोरेन को सरकार बनाने का औपचारिक न्यौता भेजा है.

इसके साथ ही उन्होंने राज्य में राष्ट्रपति शासन ख़त्म करने की भी अनुशंसा की है. झारखंड में राष्ट्रपति शासन की मियाद 19 जनवरी तक है.

संभावना व्यक्त की जा रही है कि बुधवार को शिबू सोरेन राज्य के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेंगे.

गणित

शनिवार को शिबू सोरेन ने राज्यपाल से मिलकर सरकार बनाने का दावा पेश किया था. भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) गठबंधन ने सोरेन को समर्थन देने का फ़ैसला किया है.

भारतीय जनता पार्टी और जनता दल (यू) गठबंधन के पास 20 विधायक हैं, जबकि झारखंड मुक्ति मोर्चा के 18 विधायक हैं. आजसू के पाँच विधायकों ने भी झामुमो सरकार को समर्थन देने का फ़ैसला किया है.

इनके अलावा तीन निर्दलीय विधायकों ने भी सोरेन के नेतृत्व में सरकार बनाने के लिए अपना समर्थन दिया है. इस तरह 81 सदस्यीय झारखंड विधानसभा में शिबू सोरेन को 46 विधायकों का समर्थन हासिल है.

इस बार चुनाव के बाद राज्य में 25 सीटों के साथ कांग्रेस गठबंधन सबसे बड़ा गठबंधन बनकर उभरा थी. लेकिन शिबू सोरेन और कांग्रेस के बीच समझौता नहीं हो पाया था.

संबंधित समाचार