सैकड़ों शिवसैनिक हिरासत में

शिवसेना का विरोध प्रदर्शन
Image caption कई सिनेमाघरों में शिवसैनिकों ने तोड़फोड़ की है

शाहरुख़ ख़ान की फ़िल्म 'माई नेम इज़ ख़ान' की रिलीज़ से पहले मुंबई पुलिस ने सैकड़ों शिवसैनिकों को हिरासत में लिया है.

इस फ़िल्म का विरोध कर रहे शिवसैनिकों ने कुछ थिएटरों में तोड़फोड़ की जिसके बाद पुलिस ने एहतियातन यह क़दम उठाया है.

फ़िल्म शुक्रवार, 12 फ़रवरी को रिलीज़ होने जा रही है.

आईपीएल में पाकिस्तानी खिलाड़ियों को खेलने देने के शाहरुख़ ख़ान के बयान के बाद से शिवसेना और शाहरुख़ ख़ान आमने सामने हैं. इसी बयान की वजह से शिवसेना शाहरुख़ ख़ान की नई फ़िल्म का विरोध कर रही है.

सुरक्षा व्यवस्था

समाचार एजेंसी पीटीआई ने पुलिस अधिकारियों के हवाले से कहा है कि पिछले 24 घंटों में 1,023 शिव सैनिकों को हिरासत में लिया गया है.

अधिकारियों ने कहा है, "955 शिवसैनिकों को ऐतिहातन हिरासत में लिया गया है जबकि शेष लोगों को कुछ अन्य आरोपों में गिरफ़्तार किया गया है जिसमें सिनेमाघरों के सामने प्रदर्शन और तोड़फोड़ शामिल है."

मुंबई पुलिस ने शहर के 63 सिनेमाघरों को सुरक्षा प्रदान की है, जहाँ 'माई नेम इज़ ख़ान' रिलीज़ होने जा रही है.

सप्ताहांत के लिए पुलिस कर्मियों की छुट्टियाँ रद्द कर दी गई हैं.

इस सुरक्षा के बावजूद कई मल्टीप्लेक्सेस ने इस फ़िल्म की एडवांस बुकिंग बंद कर दी है.

शिवसेना का कहना है कि जब तक शाहरुख़ ख़ान आईपीएल में पाकिस्तानी खिलाड़ियों को खिलाने के मामले में अपना बयान वापस नहीं लेते शिवसेना इस फ़िल्म का विरोध करते रहेंगे.

पीटीआई ने शिवसेना नेता मनोहर जोशी के हवाले से कहा है, "हम फ़िल्म रिलीज़ नहीं होने देंगे. पहले शाहरुख़ ख़ान बाला साहब ठाकरे से माफ़ी माँगें तभी हम उनसे बात करेंगे."

फ़िल्म के निर्देशक और सहनिर्माता करन जौहर ने मंगलवार को मुंबई के पुलिस कमिश्नर डी श्रीनिवासन से मुलाक़ात की थी और फ़िल्म की रिलीज़ के लिए सुरक्षा व्यवस्था पर चर्चा की थी.

संबंधित समाचार