'माई नेम इज अशोक ख़ान'

अशोक चव्हाण
Image caption शिवसेना ने अशोक चव्हाण को आड़े हाथों लिया

शाहरुख़ ख़ान की फ़िल्म माई नेम इज ख़ान को लेकर जारी शिवसेना के विरोध के बीच पार्टी ने दावा किया है कि महाराष्ट्र सरकार ने बाल ठाकरे और शाहरुख़ ख़ान के बीच मुलाक़ात नहीं होने दी.

शाहरुख़ की ये फ़िल्म शुक्रवार को रिलीज़ होने वाली है. इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में पाकिस्तानी खिलाड़ियों को शामिल न करने के मुद्दे पर शाहरुख़ का बयान शिवसेना को रास नहीं आया है.

शाहरुख़ ने कहा था कि आईपीएल में पाकिस्तानी खिलाड़ियों को शामिल किया जाना चाहिए था.

शिवसेना के मुखपत्र सामना में कहा गया है, "अमरीका दौरे से लौटने के बाद शाहरुख़ ख़ान ने इस मुद्दे के हल के लिए बाल ठाकरे से मिलने की इच्छा जताई थी. लेकिन कांग्रेस-एनसीपी की सरकार ने इस कोशिश को नाकाम कर दिया और कहा कि सरकार शिवसैनिकों से निपटने में सक्षम है."

अख़बार का दावा है कि शाहरुख़ ख़ान ने अबू धाबी में कहा कि वे बाल ठाकरे से मिलेंगे ताकि महाराष्ट्र में फ़िल्म ठीक तरह से रिलीज़ हो सके.

सामना में माई नेम इज अशोक ख़ान शीर्षक से संपादकीय भी छपा है, जिसमें महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण की खिंचाई की गई है कि वो 'पाकिस्तान प्रेमी' शाहरुख़ ख़ान का पक्ष इसलिए ले रहे हैं ताकि उनकी कुर्सी बच सके.

संबंधित समाचार