बड़े माओवादी नेता की गिरफ़्तारी

कोलकाता में पुलिस ने माओवादियों की सशस्त्र ईकाई के एक बड़े नेता को गिरफ़्तार किया है.

वेंकटेशवर रेड्डी उर्फ़ तेलगू दीपक नाम का ये शख़्स माओवादी नेता किशनजी का काफ़ी करीबी बताया जाता है.

तेलगू दीपक आँध्रप्रदेश के रहने वाले हैं.वे पश्चिम बंगाल में सीपीआई(माओवादी) के राज्य सैन्य आयोग के सदस्य रहे हैं.

बीबीसी संवाददाता अमिताभ भट्टासाली को मिली जानकारी के मुताबिक सीआईडी की टीम को सूचना मिली थी कि तेलगू दीपक कोलकाता में है और उन्हें शहर के एक बस स्टैंड से पकड़ा गया.सीआईडी उनसे पूछताछ कर रही है.

माना जा रहा है कि हाल ही में पश्चिम बंगाल के सिल्दा में हुए हमले के पीछे दीपक का ही हाथ था जिसमें 24 जवान मारे गए थे.

बड़ी सफलता

ख़ुफ़िया एजेंसियों का कहना है कि तेलगू दीपक का पकड़ा जाना एक बड़ी सफलता है. ऐसा माना जाता है कि दीपक विस्फोटकों के मामलों में माहिर हैं और माओवादियों के गढ़ समझे जाने वाले इलाक़ों में वे कई बार आ चुके हैं.

जानकारी के मुताबिक तेलगू दीपक विभिन्न इलाक़ों में जाकर प्रशिक्षण देते थे कि विस्फोटकों का इस्तेमाल कैसे करना है.

पीपल्स लिबरेशन गोरिल्ला आर्मी( पीएलजीए) माओवादियों का छापामार दस्ता है और किशनजी इसके प्रमुख हैं. तेलगू दीपक किशनजी के काफ़ी करीबी हैं.

बीबीसी संवाददाता का कहना है कि पिछले कुछ महीनों में पुलिस और ख़ुफ़िया एजेंसियाँ माओवादियों के तंत्र में पहुँच बना चुके हैं और इसिलए दीपक जैसे माओवादी नेता को पकड़ने में सफलता मिली है.

अभी तक इस पर सरकार की प्रतिक्रिया नहीं आई है.

वहीं माओवादियों ने बिहार के मुंगेर ज़िले में कथित तौर पर पुलिस की मुख़बिरी करने के आरोप में दो ग्रामीणों की गला रेतकर हत्या कर दी है.

संबंधित समाचार